News Today Time

Headline Today

Language Translation

Loading...

Join us

Text selection Lock by Hindi Blog Tips

मोदी राष्ट्रीय राजधानी में आज करेंगे 'प्रधानमंत्री जन-धन योजना का औपचारिक शुभारंभ

Written By Bureau News on Wednesday, August 27, 2014 | 9:59 PM

   नई दिल्ली।। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपनी सरकार की महत्वकांक्षी ''जन-धन" योजना का गुरूवार को राष्ट्रीय राजधानी में औपचारिक शुभारंभ करेंगे। इसका उद्देशय बैंकिंग और वित्तीय सेवाओं को शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में घर घर तक पंहुचाना है।
    इसके साथ ही कल राज्यों की राजधानियों एवं केन्द्र शासित क्षेत्रों तथा देश के प्रमुख केन्द्रों और सभी जिला मुख्यालयों में इस योजना के शुभारंभ के लिए समारोह का आयोजन किया जाएगा। इस योजना के आगाज के मौके पर देश भर में प्रमुख स्थलों पर तकरीबन 76 ऐसे समारोह आयोजित होंगे, जिनमें केन्द्रीय मंत्रियों और राज्यों के मुख्यमंत्रियों के अलावा अन्य गणमान्य व्यक्ति शामिल होंगे।
   इस मेगा योजना के शुभारंभ के अवसर पर सार्वजनिक बैंकों की विभिन्न शाखाएं उसी दिन ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में 60 हजार से भी ज्यादा शिविरों का आयोजन करेंगी। शुभारंभ के दिन ही तकरीबन एक करोड़ खाते खोले जाने का अनुमान है।
    प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ऐतिहासिक लालकिले के प्राचीर से राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में इस योजना की घोषणा की थी। उन्होंने कुछ ही दिन पहले इस संबंध में सभी बैंक अधिकारियों को लगभग 7.25 लाख ई-मेल भेजे हैं। यह योजना वित्तीय समावेश पर एक राष्ट्रीय मिशन है, जिसका उद्देश्य देश में सभी परिवारों को बैंकिंग सुविधाएं मुहैया कराना और हर परिवार का एक बैंक खाता खोलना है।
   सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार इस योजना की मुख्य विशेषता यह है कि पूर्व मे लक्षित गांव के बजाय इस बार परिवार को केन्द्र में रखा गया है। इसके अलावा ग्रामीण और शहरी दोनों क्षेत्रों को इस योजना में कवर किया जा रहा है, जबकि पहले केवल ग्रामीण क्षेत्रों को ही लक्ष्य में रखा गया था। यह मिशन दो चरणों में लागू होगा। पहला चरण 15 अगस्त 2014 से 14 अगस्त 2015 तक होगा और दूसरा चरण 15 अगस्त 2015 से 14 अगस्त 2018 तक। पहले चरण में पूरे देश में सभी परिवारों को उचित दूरी के अंदर किसी बैंक की शाखा या निर्धारित प्वाइंट 'बिजनेस कॉरसपोंडेंट' के माध्यम से बैंकिंग सुविधाओं की वैश्विक पंहुच उपब्ध कराना है।
   पहले चरण में सभी परिवारों को एक लाख रूपए का दुर्घटना बीमा कवर, रूपे डेबिट कार्ड के साथ कम से कम एक मूल बैंकिंग खाता उपलब्ध करना। इस खाते के छह महीने तक संतोषजनक परिचालन होने के बाद आधार से जुड़े खातों पर पांच हजार रूपए तक की ओवरड्राफ्ट सुविधा की अनुमति भी दी जाएगी।
   इसी चरण में वित्तीय साक्षरता कार्यक्रम शुरू किया जाएगा जिसका उद्देश्य वित्तीय साक्षरता को ग्राम स्तर तक ले जाना है। इस मिशन में लाभार्थियों के बैंक खातों के
    माध्यम से विभिन्न सरकारी योजनाओं के अधीन प्रत्यक्षा लाभ हस्तांतरण का विस्तार भी शामिल है। पहले चरण के तहत किसान के्रडिट कार्ड को रूपे किसान कार्ड के रूप में जारी करने का प्रस्ताव है। दूसरे चरण में लोगों को माइक्रो-बीमा उपलब्ध कराने के साथ बिजनेस कॉरसपोंडेंट के माध्यमस से स्वामलंबन जैसी गैर-संगठित क्षेत्र पेंशन योजनाएं शुरू की जाएंगी। प्रधानमंत्री जन-धन योजना के प्रति जागरूकता फैलाने के लिए देशी भाषाओं में एक मानक वित्तीय साक्षरता सामग्री भी तैयार की गई है। इस योजना में कम से कम 7.5 करोड़ परिवारों को कवर किए जाने की अनुमान है।
   विज्ञप्ति के अनुसार इस योजना के तहत एक खाता खुल जाने के बाद हर परिवार को बैंकिंग और कर्ज की सुविधाएं सुलभ हो जाएंगी। इससे उन्हें साहूकारों के चंगुल से निकलने, आपातकालीन जरूरतों के चलते पैदा होने वाले वित्तीय संकटों से खुद को दूर रखने और तरह तरह के वित्तीय उत्पादों के लाभन्वित होने का मौका मिलेगा। पहले कदम के तहत हर खाताधारक को एक रूपे डेबिट कार्ड और एक लाख रूपए का दुर्घटना बीमा कवर दिया जाएगा। आगे चलकर उन्हें बीमा और पेंशन उत्पादों के दायरे में
9:59 PM | 0 comments | Read More

जहाजरानी मंत्रालय ने 4,200 करोड़ रूपए की गंगा योजना के लिए निगरानी इकाई बनाई

   नई दिल्ली।। जहाजरानी मंत्रालय ने गंगा नदी में वाणिज्यिक नौवहन के साथ धार्मिक स्थलों को जोडऩे वाला क्रूज यात्रा के लिए अपनी महत्वाकांक्षी 4,200 करोड़ रूपए की इलाहबाद-हल्दिया जलमार्ग विकास परियोजना को लेकर एक निगरानी इकाई गठित की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा हाल में महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की समीक्षा के बाद यह बात सामने आई है। जहाजरानी मंत्रालय ने वित्त मंत्रालय को भेजे पत्र में कहा है, ''परियोजना निगरानी इकाई :पीएमयू: गठित करने की प्रक्रिया पूरी हो गई है। परियोजना में इलाहबाद-वाराणसी-बक्सर-पटना-हल्दिया के बीच राष्ट्रीय जलमार्ग-। का विकास शामिल हैं। ए वे शहर हैं जहां कई धार्मिक स्थल हैं। मंत्रालय ने कहा है कि इसके लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट तैयार की जा रही है। यह मार्ग।,620 किलोमीटर का होगा। इसमें 1500 टन क्षमता के पोतों का वाणिज्यिक नौवहन हो सकेगा।
9:59 PM | 0 comments | Read More

सरकार कारोबार करने को आसान बनाने के लिए कदम उठा रही है

  नई दिल्ली।। औद्योगिक नीति एवं संवद्र्धन विभाग :डीआईपीपी: के सचिव अमिताभ कांत ने कहा है कि सरकार निवेश आकर्षित करने तथा रोजगार सृजित करने के लिए कारोबार करने को सरल बनाने को लेकर कई पहल कर रही है।
   ई-कारोबार मंच के बारे में जानकारी देते हुए कांत ने कहा कि परियोजना सरकार के साथ कारोबार को आसान और पारदर्शी बनाएगी।
   उद्योग मंडल सीआईआई ने सचिव के हवाले से जारी बयान में कहा है, ''सरकार ने देश में कारोबार करने को सरल बनाने की दिशा में कई कदम उठाए हैं। 'भारत-अमेरिका बिजनेस-टू- बिजनेस रिलेशंस विषय पर आयोजित सेमिनार में कांत ने यह बात कही। इसका आयोजन उद्योग मंडल सीआईआई ने किया था।
   सरकार ने कारोबार को सरल बनाने को लेकर हाल में कई कदम उठाए हैं, उसमें आवेदनों को मंजूरी देने के लिए समयसीमा तय करना तथा कई रक्षा उत्पादों के विनिर्माण के लिए लाइसेंस खत्म करना शामिल हैं।
9:58 PM | 0 comments | Read More

बजरंग दल तथा विश्व हिन्दू परिषद् ने शाहजहांपुर में गौ मांस पकडे जाने के बाद पकडे गये हिन्दुओ पर कार्यवाही के विरोध में तहसीलदार को ज्ञापन सौपा

  जलालाबाद।। शाहजहांपुर के मोहल्ला वाजिद खेल में सैकड़ो कुंतल गौ मांस पकडे जाने के बाद भी न तो पुलिस ने बूचड़ खाने को शील किया और न ही वाहनों के कंडक्टर व् ड्राईवर के अलावा किसी को नहीं पकड़ा | इससे नाराज विश्व हिन्दू परिषद् तथा बजरंगदल के कार्यकर्ता पुलिस प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन करते तहसीलदार लालता प्रसाद तिवारी को ज्ञापन सौपा और ज्ञापन में बताया कि गौ हत्या में लिप्त सभी लोगो को गिरिफ्तार किया जाय तथा उन पर राशुका लगाई जाय |तथा जिन हिंदूओ पर झूंठ मुकद्दमा लिखा गया है उनको बापस लिया हुए| संगठन के कार्यकर्ताओं ने कहा कि निर्दोष लोगो का उत्पीडन बंद किया जाय और जिले में हो रही गौहत्या की घटनाओं को रोकने के लिए प्रभावी कार्यवाही की जाय अन्यथा संगठन के कार्यकर्ता आन्दोलन करने को बाध्य हो जायेगे | ज्ञापन देनी बाले लोगो में कमलेश अवस्थी मुनिराज सिंह अनुराग अग्निहोत्री आलोक शर्मा कुशल दीक्षित वैभव त्रिवेदी सतीश जोशी सोनू दीक्षित क्रांति मिश्र ब्रजेश राठौर अमित खन्ना सहित दर्जनो लोग शामिल रहे |



9:38 PM | 0 comments | Read More

पत्रकार के साथ मारपीट प्रकरण में एसडीएम द्वारा डीएम को ज्ञापन

पत्रकार मारपीट में मामले को लेकर धरना प्रर्दशन की धमकी
तिलहर क्षेत्र के पत्रकारों ने भूखहड़ताल की धमकी देते हुये विभाग के बाबू के निलम्बन की मागं की

   तिलहर/शाहजंहापुर।। जिला स्तरीय पत्रकार के साथ समाज कल्याण विभाग के बाबू द्वारा मारपीट का मामला और भी तूल पकड़ता दिखाई देने लगा है। जिला स्तरीय पत्रकार ग्रामीण क्षेत्र का निवासी होने के कारण ग्रामीण पत्रकार एसोसिएषन की तिलहर इकाई ने अपना समर्थन करते हुये एसडीएम द्वारा जिलाधिकारी को दिये अपने ज्ञापन पत्र में सीधी मागं करते हुये चेतावनी दी कि यदि इस प्रकरण में तत्काल ही जिलाधिकारी द्वारा निष्पक्षता से प्रकरण की ततकाल ही जांच नही कराई गई तो मजबूरन समस्त पत्रकार उक्त बाबू के निलम्बन की मागं को लकर धरना प्रर्दशन सहित भूख हड़ताल करने को बाध्य होगे। ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन तिलहर इकाई ने पत्रकार अशफाक खा का समर्थन करते हुये तहसील पहुंच कर समस्त पत्रकारो के साथ उपजिलाधिकारी द्वारा जिलाधिकारी महोदया को ज्ञापन देकर मांग की है कि जनपद स्थित समाज कल्याण विभाग में कार्यरत उर्दू अनुवादक बाबू नवेद खाॅ ने जिला स्तरीय पत्रकार अषफाक खा के साथ उस समय मारापीट की जब वह समाज कल्याण विभाग द्वारा जारी 15 अगस्त के विज्ञापन का बिल लेकर पेमेन्ट लेने पहुंचा जहा विभाग में कार्यरत बाबू नवेद खा ने वरिष्ठ पत्रकार के साथ हाथापाई की और साथ ही दबंगई करते हुये समस्त पत्रकारिता जगत को गाली देकर पत्रकारिता पर तामचा मारा जिसकी सूचना मिलते ही अशफाक खा की ओर जनपद के थाना सदर में उक्त बाबू पर पुलिस विभाग ने मात्र एन0 सी0 आर दर्ज की परन्तु विभाग के बाबू का वचाव करते हुये ठीक तीन दिन वाद अषफाक खा के खिलाफ सरकारी अभिलेख फाड़ने का झूठा शडयंत्र रच कर प्रताड़ित किया जाने लगा जिससे नाराज तहसील के समस्त पत्रकारो ने एक जुट हो उपजिलाधिकारी के द्वारा जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर चेतावनी दी कि 5 अगस्त तक इस प्रकरण की सच्चाई सामने लाई जाये नही तो समस्त पत्रकार जिला स्तर एक जुट होकर धरना प्रदर्षन करने के साथ ही भूख हड़ताल करने को बाध्य होगे जिसकी समस्त जिम्मेदारी प्रषासन की होगी। इस मौके पर पत्रकार अफरोज अली, इन्द्रभान सिंह उर्फ बीनू, अनुराग मिश्रा, सिद्दीक अहमद, तौसीफ खान, लोकेष आर्य, अमुक सक्सेना, धर्मपाल सिहं, शकील अहमद, तसदीक असांरी, सुनील कुमार, अशोक कुमार, राजेन्द्र कुमार, अजीज अहमद, बसीम अहमद, एजाज अहमद, राम कृष्ण, गोविन्दराम गगंवार, अशोक शर्मा, फरीद अहमद, सईद अहमद आदि दर्जनो पत्रकारो ने हिस्सा लिया।


9:36 PM | 0 comments | Read More

दागी नेताओं को मंत्री बनाने का फैसला अब प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों के विवेक पर - सुप्रीम कोर्ट


  नई दिल्ली।। दागी नेताओं को मंत्री बनाने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने अब एक नई बात कही है। दागी नेताओं को मंत्री बनाने के फैंसले को कोर्ट ने अब प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों के विवेक पर छोड दिया है।
   सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि आपराधिक मामलों के अभियुक्त लोगों को मंत्रिमंडल में शामिल करना प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों के विवेक पर निर्भर है। हालांकि, फ़ैसले में संविधान के हवाले से सुझाया गया है कि दाग़ी नेता मंत्रिमंडल में नहीं होने चाहिए।
   इस बारे में एमेकस क्यूरी राकेश द्विवेदी ने कहा, ”मंत्री नियुक्त करने के लिए प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों की जो शक्तियां हैं, उसमें कोई स्पष्ट प्रतिबंध पढ़ना संभव नहीं है।”
   गौरतलब है दागी मंत्रियों को लेकर वैसे भी सभी पार्टियों में लंबे समय से एक सी स्थिति बनी हुई है। सभी पार्टियों में कोई न कोई दागी नेता मौजूद है ही। कुछ ऐसे बाहुबली नेता भी हैं जो पार्टी हित में काभी लाभकारी साबित होते रहे हैं।
  ऐसे में सभी पार्टियों के लिए दागी नेताओं से पार पाना न तो आसान है और न ही वो इन को पार्टी से हटाना ही चाह रही हैं। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट की लटकी तलवार हर पार्टी में खलबली मचाए हुए थी।
  एमेकस क्यूरी राकेश द्विवेदी के अनुसार, ”सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि राजनीति का अपराधीकरण लोकतंत्र को नष्ट करता है और संविधान निर्माताओं ने इस मामले में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों को एक बड़ी भारी ज़िम्मेदारी सौंपी है।”
  फैंसले में ये भी कहा गया है कि प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों को यह सुनिश्चित करना होगा कि जिनके ख़िलाफ़ गंभीर आरोप हैं और मुक़दमे चल रहे हैं, उन्हें मंत्री नियुक्त नहीं किया जाए। याचिकाकर्ता अनिल कुमार झा ने अपनी याचिका में कहा था कि क्या गंभीर आरोपों का सामना कर रहे किसी व्यक्ति को प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री या मंत्री बनाया जा सकता है?

9:31 PM | 0 comments | Read More

योगी आदित्यनाथ अपने कथित वीडियो को लेकर फिर से मुश्किल में


  नई दिल्ली।। गोरखपुर से बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ का एक बार फिर से मुश्किल में हैं। इस बार मामला उनके कथित वीडियो को लेकर है।
   समाचार चैनलों और सोशल साइट्स में चल रहे इस एक चौंकाने वाले वीडियो में योगी आदित्यनाथ अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए नजर आते हैं।
   इस मौके पर वो कहते हैं कि अगर मुस्लिम समुदाय के लोग एक हिन्दू लड़की को ले जाएंगे हम उनकी कम-से-कम 100 लड़कियों को ले आएंगे। हालांकि कहा ये भी जा रहा है कि ये वीडियो करीब 5 साल पुराना है। फिलहाल इसको लेकर सियासत गरमा गई है।
   जहां विपक्षी पार्टी खासतौर से कांग्रेस ने इस मुद्दे पर बीजेपी सांसद और पार्टी दोनों को घेरने की कोशिश की है। वहीं इस पूरे विवाद के बाद सांसद योगी आदित्यनाथ की प्रतिक्रिया भी सामने आई है। योगी आदित्यनाथ ने इस मुद्दे पर वीडियो की प्रामाणिकता पर ही सवाल खड़े दिए हैं। बीजेपी सांसद ने कहा, “मीडिया में चल रहे वीडियो की फोरेंसिक जांच होनी चाहिए।”
   टीवी चैनल पर दिखाए जा रहे इस बयान के निहितार्थ पर बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ ने सफाई दी है। फोन पर हुई बातचीत में उन्होंने वीडियो पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने कहा, “उनका आशय यह नहीं था जैसा दिखाया जा रहा है।”
   योगी आदित्यनाथ ने कहा, “यदि किसी कारणवश हिंदुओं ने दूसरे धर्म में परिवर्तन कर लिया है और वह वापस आना चाहते हैं तो उनका स्वागत करना होगा। एक नहीं अगर 100 लोग भी वापस आते हैं तो उन्हें आत्मसात करना होगा।”
  इसके साथ ही उन्होंने कहा, “धोखे से हिंदुओं का धर्म परिवर्तन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हिंदू समाज को अपनी मानसिकता बदलनी होगी। साथ ही हमें छूआछूत जैसी बुराइयों को खत्म करना होगा।”

9:30 PM | 0 comments | Read More

बिठुजा में स्थित रामदेव मंदिर दुसरा सबसे बड़ा रामदेवजी का मंदिर है, दूज पर मेले का आयोजन


  बालोतरा।। बालोतरा उपखंड में स्थित लोक देवता बाबा रामदेवजी के बिठुजा रूणीचा धाम में आज बाबा की दूज पर मेले का आयोजन हुआ। जेसलमेर जिले में स्थित बाबा रामदेवजी के मुख्य मंदिर के बाद प्रदेश में बिठुजा में स्थित रामदेव मंदिर दुसरा सबसे बड़ा रामदेवजी का मंदिर है। प्रदेश में बिठुजा रामदेव मंदिर को मिनी रामदेवरा के नाम से भी जाना जाता है। किवदंती है कि लोक देवता बाबा रामदेवजी ने द्वारिका से रामदेवरा आते समय बिठुजा में विश्राम किया था। रामदेवजी की विश्राम स्थली बिठुजा में रामदेवजी के रूणीचा धाम की तर्ज पर ही विषाल मेले का आयोजन होता है। श्रद्धालुओ में मान्यता है कि रूणीचा धाम के मुख्य मंदिर के बाद बिठुजा के रामदेवजी के मंदिर में दर्शन करने के बाद ही तीर्थ यात्रा को सफल माना जाता है। बिठुजा में प्रतिदिन रूणीचा धाम जाने वाले हजारो पेदल यात्री यहां पर दर्शन करने के बाद आगे की यात्रा करते हैं। बाबा के मेले के अवसर पर अल सुबह से ही मंदिर में श्रद्धालुओ की कतारे लगनी शुरू हो गई थी जो दिन भर जारी रही। मेले में करीब एक लाख श्रद्धालुओ ने दर्षन करके अमन चैन की कामना की। मेले के दोरान मंदिर ट्रस्ट, प्रशासी ओर पुलिस की ओर से माकूल व्यवस्थांए की गई।


9:26 PM | 0 comments | Read More

पाकिस्तान में गिराया जाएगा 79 साल पुराना मंदिर

   लाहोर।। पाकिस्तान के सैन्य शहर रावलपिंडी में एक ऐतिहासिक हिंदू मंदिर का अस्तित्व खतरे में है। इस मंदिर की जगह यहां सैनिकों के बैरक का निर्माण किया जाएगा। चकलाला के ग्रेसी लाइन्स स्थित महर्षि वाल्मिकी स्वामी जी मंदिर और एक कमरे वाले 53 मकानों की जगह सैन्य बैरक बनाए जाएंगे। भारत-पाकिस्तान के बंटवारे से पहले सन् 1935 में बनाए गए इस मंदिर को बालकनाश मंदिर के नाम से भी जाना जाता है। यह मंदिर रावलपिंडी कैंट एरिया की सीमा में आता है।
   मंदिर और उसके पास स्थित शमशान घाट को तोड़े जाने की सूचना 12 अगस्त को हिंदू समुदाय के लोगों को दी गई। इसे रोकने के लिए कोर्ट में याचिका भी दायर की गई थी, लेकिन मंदिर गिराने का फैसला नहीं बदला गया।
  पाकिस्तान प्रशासन के इस फैसले से स्थानीय हिंदू समुदाय में काफी रोष है। एक स्थानीय हिंदू निवासी अशोक चंद ने मीडिया को बताया कि मंदिर और घरों को आजादी से पहले कानूनी ढंग से बनाया गया था और इन्हें इस तरह गिराए जाने का फैसला लेना गलत है।
  अशोक चंद ने बताया, "बंटवारे के वक्त हमने हिंदुस्तान जाने से मना कर दिया और जिन्ना के पाकिस्तान में ही रहे। लेकिन, अब हमारे घर और पवित्र स्थान गिराए जा रहे हैं। क्या हम पाकिस्तानी या इंसान नहीं हैं?"
  हालांकि, स्थानीय हिंदू निवासियों को प्रशासन की ओर से वैकल्पिक घरों का ऑफर दिया गया था, लेकिन मंदिर के पुनःनिर्माण के बारे में कुछ नहीं कहा गया है। गौरतलब है कि रावलपिंडी से 25 किलोमीटर दूर स्थित इस जगह, करीब 60 हिंदू परिवार रहते हैं।
9:22 PM | 0 comments | Read More

कुछ इस तरह से होता है भारत में लव जिहाद का संचालन

  नई दिल्ली।। इसको संचालित करने के लिये पाकिस्तान, या अरब देशों से इनको वहाँ के शेखों द्वारा भारी पैसा आता है जो कि तेल के कुओं के मालिक होते हैं। ये पैसा उनको All India Muslim Scholarship Fund के रूप में दिया जाता है। प्रतिमाह इन मुस्लिम गुंडों को तैयार किया जाता है और हिन्दू लड़कियों को फंसाने के लिये इनको 8000 से 0000 मासिक वेतन दिया जाता है। तो मस्जिदों में किसी मुहल्ले के सभी मुसलमानों की मीटिंग रखी जाती है। जिसमें भाग लेने वाले अमीर से लेकर गरीब तबके के लोग आते हैं, जिसमें रेड़ीवाला, शॉल बेचने वाले कशमीरी पठान, घरों में काम करने वाले, नाई, चमार आदि।
   इनको हिन्दू या सिक्ख ईलाकों में घूम घूम कर ये पता लगाने को कहा जाता है कि किस घर की लड़की जवान हो गई है। तो शाल बेचने वाले पठान ये नज़र रखते हैं। और फिर ये लड़कियों की लिस्ट बनाई जाती है और जिहादी गुंडे जो कि दिखने में हट्टे कट्टे हों उनको तैयार किया जाता है, मोटर साईकलें खरीद कर दी जाती हैं। जिनको मस्जिदों में रखा जाता है। तो ये युवक अपनी कलाईयों पर मौलीयाँ बाँध कर निकल अपने नाम बदल कर हिन्दू नाम रख लेते हैं और इन लड़कियों के पीछे पड़ जाते हैं और अगर कोई लड़की दो सप्ताह के भीतर नहीं फंसती तो फिर ये उसे छोड़ कर लिस्ट की दूसरी लड़की पर अपने जिहाद को आज़माने के लिये निकल पड़ते हैं। तो ऐसे ही पूरे मोहल्ले में से कोई न कोई लड़की लव जिहाद का शिकार हो ही जाती है।
   दूसरा तरीका ये है कि social networking sites जैसे कि faceook आदि पर ये लोग नकली Id या फिर अपनी असली Id से ही हिन्दू लड़कियों को request भेजते हैं। और जैसे कि इनकी training होती है वैसे ही ये लोग इन लड़कियों को फाँसने के लिये तरह तरह के message भेजते हैं। और वे लड़कियाँ इनके मोह जाल कसं फँसकर अपना सब कुछ गंवा देती हैं। 
ये लव जिहाद के ईनाम की घोषणा और संचालन कहाँ से होता है ?
   केरल का मालाबार ही इसका मुख्य संचालन स्थान है। परन्तु अब उसकी शाखायें पूरे भारत में फैल गई हैं। क्योंकि केरल में ही लव जिहाद के 5000 से अधिक मामले कोर्ट के सामने आये हैं। तो पूरे भारत में कितने ही ऐसे मामले होंगे ?
क्या लव जिहाद में केवल हिन्दू लड़कियों को ही लक्ष्य किया जाता है या अन्य को भी ?
   भारत में हिन्दू बहुसंख्यक हैं जिस कारण पहला लक्ष्य हिन्दू लड़कियाँ ही होती हैं। परन्तु इससे अतिरिक्त दूसरे मत (बौद्ध, जैन, वाल्मिकी, सिक्ख, ईसाई) की लड़कियाँ भी लक्ष्य की जाती हैं, क्योंकि ईस्लाम की विचारधार बहुत ही कुंठित और संकुचित है जिसमें कि दूसरे मत पंथों के विरुद्ध उग्र घृणा का भाव विद्यमान है, और स्त्रीयों को तो ईस्लाम जानवरों से भी बदतर समझता है।
हिन्दू लड़कियाँ लव जिहाद में ही क्यों फंस जाती हैं? क्या इनमें दिमाग नहीं होता ?
इसके ये मुख्य कारण हैं :-
(१) हिन्दू घरों में धार्मिक वातावरण नहीं रखता ।
(२) हिन्दू अपने बच्चों को वैिदक मत की श्रेष्ठता और अवैदिक मत की निकृष्टता नहीं बताता ।
(३) अपने इतिहास पुरुषों और स्त्रीयों की जीवनीयों और उनके बलिदानों को नहीं बताता।
(४) हिन्दू युवा अपने वीर योद्धायों से इतर बालिवुड के नायकों को अपना आदर्श मानता है ।
(५) घर में सास बहु के सीरियल चलने से वातावरण और दूषित हो जाता है ।
(६) हिन्दू अपने बच्चे को धर्मनिरपेक्षता का पाठ पढ़ाता है और मुसलमान अपने बच्चे को दूसरों के प्रती नफरत सिखाता है । जिस कारण ये हिन्दू लड़कियाँ मुसलमान लड़कों से घुलने मिलने में झिझकती नहीं ।
(७) फेसबुक पर ज्यादातर हिन्दू लड़कियों की प्रोफाईल देखेंगे तो उन्होंने धार्मिक पेजों की बजाये, love, tv serials, pyar, ishq, bollywood masala, mickel jakson, shahrukh ,salman, hritik आदि के पेज लाईक किये होते हैं । और उनकी friend list में मुसलमान युवकों की संख्या बहुत ही पायी जाती है।




(सारिका भारतीय)
9:21 PM | 0 comments | Read More

कईयो ने धर्म को धंधा बना दिया है - संत कृपाराम

   बालोतरा।। प्राचीन कथाओ में आज के समय की ज्वलंत समस्याओ के निवारण का राज छुपा हुआ है इसलिये कथाओ के माध्यम से संत समाज को सुधारने ओर समस्याओ के निराकरण का प्रयास करते है। यह बात बाल संत कृपाराम जी ने पत्रकारो से बातचीत में कही। संत बालोतरा में मद भागवत कथा के वाचन के लिये आये हुए है। संत कृपाराम ने कहा कि कईयो ने धर्म को धंधा बना दिया है पर वे कथा वाचन के लिये कुछ भी नही लेते है। उन्होन कहा कि कथा भगवान से जुड़ने का माध्यम है, इसलिये वे कथा के माध्यम से ये जानकारी लोगो तक पहुचाने का काम कर रहे है। उन्होने कहा कि कथाओ में वर्तमान युग की समस्याओ के निराकरण के राज छुपे है। वे कथाओ में समस्याओ के उपायो ओर संदेषो की व्याख्या कर लोगो तक पहुचाते है। उन्होने कहा कि धार्मिक कथाओ के आने वाले लोग एक सुपर पाॅवर के प्रभाव में आते है ओर जीवन को सही दिषा में ले जाते है। संत ने कहा कि नषा ही गरीबी सहित अन्य समस्याओ की जड़ है। उन्होने कहा कि नारी को पूजने वाले देष में भु्रण हत्या कर नारी को जीवन लेने से पहले ही कोख में मार डाला जा रहा है। भ्रूण हत्या के लिये संत ने दहेज का जिम्मेदार बताते हुए कहा कि हमे संकल्प लेना होगा कि हम न तो दहेज लेंगे न ही दजेह देंगे। संत ने बताया कि सकारात्मक सोच के साथ ही प्रयास जारी रखने से हमेषा सफलता हासिल होती है।


8:30 PM | 0 comments | Read More

अटल, आडवाणी, जोशी हमारे मार्गदर्शक - चौहान

   बंगलूर।। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भाजपा के संस्थापकों अटल बिहारी वाजपेयी, एलके आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को संसदीय बोर्ड से बाहर कर दरकिनार किए जाने की खबरों को खारिज किया है। उनका कहना है कि वे पार्टी के लिए 'मार्गदर्शक और दार्शनिक' हैं।
    चौहान मध्यप्रदेश में अक्टूबर में आयोजित होने वाले ग्लोबल इन्वेस्टर मीट के लिए निवेशकों को आकर्षित करने यहां आए हैं। एक दिन पहले ही आडवाणी, अटल और जोशी को भाजपा के संसदीय बोर्ड से अलग कर दिया गया। हालांकि शिष्टाचार के नाते उनके नामों को पांच सदस्यीय 'मार्गदर्शक मंडल' में शामिल किया गया है। चौहान ने कहा, 'पार्टी बनाने में पूरी जिंदगी लगा देने वाले ये दिग्गज हमारे मार्गदर्शक और दार्शनिक बने रहेंगे। भविष्य में भी सरकार और संगठन को उनके सुझाव की दरकार रहेगी।' मंत्रिमंडल में भ्रष्ट मंत्रियों के बारे में सुप्रीम कोर्ट के सुझाव पर चौहान ने कहा कि इस मसले पर हमारा रुख शुरू से स्पष्ट है। आपराधिक और भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रहे लोगों का मंत्रिमंडल में रहना ठीक नहीं है।




8:27 PM | 0 comments | Read More

अगर आरोप साबित हुआ तो राजनीति से ले लूंगा संन्यास - राजनाथ

  नई दिल्ली।। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने बेटे पंकज सिंह पर घूस लेने के आरोपों को खारिज करते हुए मामले की शिकायत राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ और भाजपा से की है। राजनाथ ने पंकज पर लगे सभी आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि ये झूठी अफवाह है। इसमें किसी भी प्रकार की कोई सच्चाई नहीं है। उन्होंने कहा, 'अगर मुझपर या मेरे परिवार के किसी सदस्य पर भ्रष्टाचार का कोई भी आरोप साबित हो गया तो मैं राजनीति से संन्यास ले लूंगा।'
   राजनाथ ने संघ और पार्टी से एक वरिष्ठ मंत्री को लेकर शिकायत की है कि वे उनके बेटे के खिलाफ झूठी अफवाहें फैला रहे हैं। उधर, प्रधानमंत्री कार्यालय से भी बयान जारी करके इन आरोपों को झूठा और निराधार बताया गया है। बयान में कहा गया है कि इन आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है। यह केवल सरकार की छवि को धूमिल करने की कोशिश है।
   राजनाथ सिंह ने इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से भी बात की है। संघ और प्रधानमंत्री दोनों ने ही इन आरोपों को निराधार बताया है। उधर, राजनीतिक गलियारों में मामले को लेकर चर्चाएं तेज हो गई हैं।


8:25 PM | 0 comments | Read More

14 कार कंपनियों को झटका, 2545 करोड़ का लगा जुर्माना

   नई दिल्ली।। देश की दिग्गज कंपनियों टाटा मोटर्स और मारूति सुजुकी समेत 14 कार कंपनियों को झटका देते हुए कॉम्पिटिशन कमिशन ऑफ इंडिया (सीसीआई) ने उन पर 2,545 करोड़ रूपए का जुर्माना लगाया है।
   इन कार कंपनियों पर जुर्माना व्यापार नियमों के उल्लंघन को लेकर लगाया गया है। आयोग ने बताया कि इन कार कंपनियों ने स्थानीय मूल उपकरण आपूर्तिकर्ताओं के साथ समझौतों के अलावा अधिकृत डीलरों के साथ समझौते की शर्तो के मामले में प्रतिस्पर्धा नियमों का उल्लंघन किया हैं। प्रतिस्पर्धा नियामक ने 215 पेज का आदेश जारी किया है। जिसकी प्रति मिलने के 60 दिन के अंदर जुर्माने की राशि का भुगतान करना है।
   इन कार कंपनियों में मारूति सुजुकी और टाटा मोटर्स के अलावा फॉक्सवैगन इंडिया, मर्सिडीज बेंज, बीएमडब्ल्यू, निसान मोटर्स, होंडा, टोयोटा किर्लोस्कर, फिएट, हिंदुस्तान मोटर्स, फोर्ड इंडिया, जनरल मोटर्स इंडिया, महिंद्रा एंड महिंद्रा, स्कोडा ऑटो इंडिया शामिल हैं।
6:29 PM | 0 comments | Read More

दस करोड़ का घर छोड़ 'जिहादी' बना था अमेरिकी पत्रकार का सिर कलम करने वाला



  वाशिंगटन।। अमेरिकी पत्रकार जेम्स फोले की गला रेतकर हत्या करने वाले आईएसआईएस आतंकी के बारे में अमेरिका और ब्रिटेन तेजी से जानकारी जुटाने में लगाने हैं। जल्द ही एजेंसियां उससे जुड़ी जानकारियां का खुलासा करेंगी लेकिन डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, 23 वर्षीय आतंकी को 'जिहादी जॉन' नाम से पुकारा जाता है और उसका असली नाम अब्देल माजेद अब्देल बारी है। वह लंदन का रहने वाला है और किसी जमाने में रैपर हुआ करता था। बीते साल जिहाद करने की जिद में वह अपना अच्छा-खासा म्यूजिक करियर छोड़ कर सीरिया चला गया था। उसके फेसबुक अकाउंट पर ऐसी कई तस्वीरें हैं, जिनसे अंदाजा लगाना मुश्किल होता है कि आखिर बारी जिहादी कैसे बन गया है।
लंदन में दस करोड़ रुपए का घर भी छोड़ा था
   एल जिनी छद्म नाम से जिहादी जॉन एक उभरता हुआ रैपर था। सीरिया जाने से पहले उसने पश्चिमी लंदन स्थित अपना दस करोड़ रुपए का घर छोड़ा था। उसने अपने टि्वटर अकाउंट पर कटा हुआ सिर लिए तस्वीर पोस्ट की थी। इसे बाद में टि्वटर ने बंद कर दिया। फेसबुक तस्वीरों के हिसाब से उसका पहनावा पश्चिमी था। एडिडास की कैप पहने हुए वह स्टूडियो में दिख जाया करता था। वहीं, एक अन्य तस्वीर में वह दंगारोधी पुलिस के सामने खड़ा दिखाई देता है। इसके बाद उसकी कई तरह की तस्वीरें आती हैं, जैसे वह मास्क पहने हुए एके-47 या एम-16 असॉल्ट राइफल के साथ दिखता है। ये सभी तस्वीरें 2012 की हैं। बीबीसी रेडियो 1 के मुताबिक, जॉन मौलवी अंजेम चौधरी के संपर्क में आने के बाद कट्‌टरपंथी हो गया था।
पिता था ओसामा बिन लादेन का मुख्य सहयोगी
   एक नए खुलासे में यह पता चला है कि बारी का पिता आदेल अब्देल बारी ओसामा बिन लादेन का शीर्ष सहयोगी था। वह इन दिनों अमेरिकी जेल में बंद है। उस पर तंजानिया और केन्या के अमेरिकी दूतावासों पर बम हमले करने का आरोप है, जिसमें 224 लोग मारे गए थे। 54 वर्षीय आतंकी की नवंबर में पेशी शुरू होगी। जब जॉन सिर्फ छह साल का था, उसके पिता को लंदन स्थित घर से गिरफ्तार किया गया था।

6:10 PM | 0 comments | Read More

असली रक़ीबुल और नकली रंजीत का मामला केवल लवजिहाद से ही नहीं बल्कि देश की सुरक्षा से भी जुड़ा है, इसकी जाँच NIA और IB को सौंप दी जानी चाहिए


   नई दिल्ली।। असली रक़ीबुल और नकली रंजीत का मामला केवल लवजिहाद का नहीं बल्कि देश की सुरक्षा से भी जुड़ा है। इसकी जाँच NIA और IB को सौंप दी जानी चाहिए.
   झारखंड सरकार के मंत्री हाजी हुसैन अंसारी के खुलासे के बाद रक़ीबुल हसन का मामला केवल लवजिहाद सरीखे अपराध तक सीमित नहीं रह जाता है. क्योंकि ऐसे अन्य प्रकरणों में शामिल अपराधियों ने केवल अपनी शिकार बनी लड़की से केवल कुछ समय के लिए ही अपनी पहचान छुपाई थी. जबकि इस मामले में रक़ीबुल हसन तारा शहदेव को तो कुछ महीनों से ही धोखा दे रहा था किन्तु समूचे समाज और प्रशासनिक तंत्र से अपनी पहचान वर्षों से छुपाता चला आ रहा था.? नकली धर्म के नाम से ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट बनवाए था. प्रायः पाकिस्तानी जासूस ऐसी हरकतें करते हैं. अतः वो ऐसा क्यों कर रहा था ? उसके इरादे क्या थे ? यह सवाल इसलिए महत्वपूर्ण हो गए हैं क्योंकि पिछले वर्ष नरेंद्र मोदी की पटना रैली में बम विस्फोट करने वाले सभी IM आतंकी रांची और उसके आसपास के इलाकों के ही थे. क्या उनका रक़ीबुल से भी कोई संबंध था.? इसकी जाँच NIA और IB को सौंप दी जानी चाहिए.



6:07 PM | 0 comments | Read More

बेटे की अफवाह से परेशान राजनाथ ने पार्टी से की शिकायत

   नई दिल्ली।। इन दिनों गृह मंत्री राजनाथ सिंह अपने एक सीनियर सहयोगी मंत्री से काफी नाराज हैं। सिंह का कहना है कि मंत्री उनके बेटे के खिलाफ द्वेषपूर्ण और झूठी बातें फैला रहे हैं।
   इस मामले को उन्होंने भाजपा और आर.एस.एस. शीर्ष नेतृत्व के सामने उठाया है। सिंह की तरफ से मामले को पार्टी और संघ लीडरशिप के सामने उठाया जाना मोदी सरकार में मतभेद की तरफ इशारा करता है।
सीनियर भाजपा नेताओं का कहना है कि यह सत्ता के लिए संघर्ष का संकेत है। पिछले कुछहफ्तों से दिल्ली के राजनीतिक गलियारों में यह चर्चा है कि पीएम नरेंद्र मोदी ने खराब राजनीतिक आचरण के मामले में राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह को डांट पिलाई है। इससे सिंह की परेशानी बढ़ गई है। भाजपा के एक नेता के मुताबिक, सिंह इसमें पार्टी के एक प्रतिद्वंद्वी का हाथ मान रहे हैं। उन्होंने इस मुद्दे को निपटाने का काम पार्टी नेतृत्व और संबंधित अधिकारियों पर छोड़ दिया गया है।
   बीजेपी नेता ने बताया कि सिंह ने इस मामले को सीधे उस मंत्री के सामने नहीं उठाया जिसे वह 'इन अफवाहों' के लिए जिम्मेदार मानते हैं। उन्होंने इसे पार्टी और संघ नेतृत्व पर छोड़ दिया है। पार्टी के बहुत से नेताओं का कहना है कि यह पूरा मामला पार्टी और सरकार में शक्ति के संघर्ष से जुड़ा है।भाजपा नेताओं ने इस बात को सही बताया कि होम मिनिस्टर ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और आर.एस.एस. प्रमुख मोहन भागवत के सामने यह मामला उठाया है। इस बारे में सिंह और शाह ने कोई टिप्पणी देने से मना कर दिया। आर.एस.एस. के प्रवक्ता मनमोहन वैद्य ने भी कुछ कहने से इनकार किया। भाजपा के सभी प्रवक्ताओं ने भी कोई टिप्पणी नहीं दी।
   गौरतलब है कि पिछले कुछ सप्ताह से राजधानी के राजनीतिक गलियारों में यह अफवाहें चल रही हैं कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कथित तौर पर कई मौकों पर कुछ नेताओं को उनके आचरण के लिए फटकार लगाई है। यह भी अफवाह थी कि एक केंद्रीय मंत्री के करीबी रिश्तेदार ने किसी का काम कराने के लिए पैसे लिए थे। मोदी ने उस शख्स को बुलाकर डांट पिलाई थी और पैसे लौटाने का निर्देश दिया था। अफवाह है कि यह शख्स कोई और नहीं पंकज सिंह थे।




6:03 PM | 0 comments | Read More

भाजपा संसदीय बोर्ड में बड़ा फेरबदल, अटल, आडवाणी और जोशी बाहर

Written By Bureau News on Tuesday, August 26, 2014 | 9:43 PM

   नई दिल्ली।। भाजपा ने मंगलवार को संसदीय बोर्ड का गठन कर दिया है। बोर्ड के अध्यक्ष अमित शाह होंगे। बोर्ड से पार्टी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी तथा पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को हटा दिया गया है। बीजेपी के नए संसदीय बोर्ड में अध्यक्ष अमित शाह के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, नितिन गडकरी, शिवराज सिंह चौहान, थावरचंद गहलोत, जे. पी. नड्डा और रामलाल होंगे।
   हालांकि इसकी क्षतिपूर्ति के लिए एक मार्गदर्शक मंडल बना दिया गया है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राजनाथ सिंह, अमित शाह के साथ-साथ इन तीनों वरिष्ठ नेता का भी नाम है। ऐसा माना जा रहा है कि मार्ग दर्शक मंडल की शक्तियां सिर्फ परामर्श देने की रहेंगी।
9:43 PM | 0 comments | Read More

मोदी सरकार के सौ दिन, ये फैसले हैं काम के

  नई दिल्ली।। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार को मंगलवार के दिन सत्ता में आए 100 दिन पूरे हो गए. इन सौ दिनों में मोदी सरकार ने तड़ातड़ फैसले लिए और पिछली सरकार की नीतियों से उपजी निराशा को झटककर दूर कर दिया है. ये फैसले हैं काम के
1. अब मंत्री और वरिष्ठ नौकरशाह सीधे प्रधानमंत्री से निर्देश लेते हैं.
2. महंगाई रोकने के लिए प्रधानमंत्री ने जरूरी खाद्य उत्पादों के लिए राष्ट्रीय खाद्य ग्रिड बनाने की बात कही है, ताकि महंगाई को लेकर अनियंत्रित अटकलों को बढ़ने से रोका जा सके.
3. मोदी सरकार ने पर्यावरण मंजूरी के लिए ऑनलाइन सेवा शुरू की है ताकि इधर उधर की लड़ाई खत्म की जा सके. यूपीए सरकार के दौरान पर्यावरण मंजूरी को लेकर कई तरह की बातें सामने आई थीं.
4. भूमि अधिग्रहण बिल में सुधार के प्रयास किए जा रहे हैं. इस एक्ट के तहत उद्योगपतियों को अक्सर परेशानी का सामना करना पड़ता था.
5. मोदी ने अफसरशाही पर अपनी पकड़ बनाई है. वो ना सिर्फ मंत्रियों से बल्कि वरिष्ठ अफसरों से भी नियमित सीधे बात करते हैं, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि एनडीए सरकार यूपीए की कॉर्बन कॉपी ना बनकर रह जाए.
6. मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली सरकार के वक्त 62 मंत्रिसमूह और ईजीओएम थे, लेकिन वर्तमान में सभी को खत्म कर दिया गया है. अब बहुत कम ऐसा होता है कि फैसले लेने का दायित्व मंत्रिसमूह को दिया जाए.
7. मोदी सरकार का कानूनी मामलों को जल्द से जल्द निपटाने की प्रक्रिया पर जोर रहता है.
8. प्रधानमंत्री मोदी ने नेशनल डाटा लिटिगेशन ग्रिड पर जोर दिया है. पर विरोधियों की एक ही रट
  हालांकि कांग्रेस हमेशा मोदी पर तानाशाह होने का आरोप लगाती रही है और इस बात को मानने को तैयार नहीं है कि मोदी सरकार फॉस्ट ट्रैक पर दौड़ रही है.
9:43 PM | 0 comments | Read More

BSF को मिली जवाबी कार्रवाई की छूट, पाक को जबर्दस्त नुकसान


   नई दिल्ली।। बिना उकसावे के पाकिस्तान की ओर से फायरिंग का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए सरकार ने सीमा पर तैनात सुरक्षा बलों को खुली छूट दे दी है। इसका नतीजा यह हुआ है कि पिछले 10 दिनों में ही पाकिस्तान को इतना नुकसान पहुंचा है जितना कि पिछले साल पूरे अगस्त महीने के दौरान नहीं पहुंचा था।
भारत की ओर से 16 अगस्त से शुरू हुई जवाब कार्रवाई में पाकिस्तान में अब तक 8 लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें सेना के जवान, लश्कर के आतंकी और आम नागरिक शामिल हैं। पाकिस्तान की ओर से अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा पर की जा रही फायरिंग में अब तो दो भारतीय नागरिकों की मौत हुई है।
   पिछले साल यानी 2013 में पाकिस्तानी सेना की फायरिंग ने हमारे 12 जवानों की जान ली थी। इस साल इस तरह के हमले में अब तक केवल एक बीएसएफ जवान की मौत हुई है। पिछले महीने पाकिस्तानी की ओर से अचानक की गई फायरिंग में एक बीएसएफ जवान की मौत हुई थी।
  बीएसएफ के एक सीनियर अधिकारी ने कहा, 'मध्य अगस्त से हम संघर्षविराम के उल्लंघन पर आक्रामक जवाब देने लगे हैं। पाकिस्तानी रेंजरों के मुकाबले हमारी ताकत तीन गुना ज्यादा है, उसी अनुपात में हमारे पास हथियार भी ज्यादा हैं। यह वजह है कि उनकी सेना के साथ आने के बावजूद पाकिस्तानी रेंजरों को जबर्दस्त नुकसान पहुंचा है। पाकिस्तान जब तक फायरिंग नहीं रोकता है, हम इसी तीव्रता से जवाब देते रहेंगे।'

9:43 PM | 0 comments | Read More

शीला दीक्षित ने केरल के राज्यपाल पद से दिया इस्तीफा



   नई दिल्ली।। दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने मंगलवार को केरल के राज्यपाल पद से इस्तीफा दे दिया। दीक्षित ने अपना इस्तीफा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को भेज दिया है। महाराष्ट्र के राज्यपाल के शंकरनारायणन ने सोमवार को अपने पद से इस्तीफा दिया। इसके बाद से ही अटकलें लगाई जा रही थीं कि शीला दीक्षित भी अपने पद से इस्तीफा दे सकती हैं।
 यूपीए सरकार के कार्यकाल में नियुक्त किए गए कई राज्यपालों ने अपना इस्तीफा हाल के दिनों में दिया है। इन पदों पर राजग सरकार अभी नई नियुक्तियां नहीं की है। हालांकि, कुछ नामों पर चर्चाएं चल रही हैं।
  पूर्व कानून मंत्री एचआर भारद्वाज द्वारा कर्नाटक के राज्यपाल के रूप में जुलाई में अपना कार्यकाल पूरा करने के बाद से वहां भी यह पद रिक्त है। इस महीने मार्गरेट अल्वा के राजस्थान का राज्यपाल का अपना कार्यकाल पूरा करने के बाद से वहां भी यह स्थान रिक्त है।
  गोवा के राज्यपाल बी वी वांचू द्वारा इस्तीफा दिए जाने से वहां पिछले महीने से यह पद रिक्त है। राजग सरकार ने मिजोरम की राज्यपाल कमला बेनीवाल को बर्खास्त कर दिया है। गुजरात में राज्यपाल रहते राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनके बीच टकराव की स्थिति बनी रहती थी। पूर्व कांग्रेसी नेता वीरेन्द्र कटारिया को भी पिछले महीने पुडुचेरी के उप-राज्यपाल के पद से बर्खास्त कर दिया गया था।
  नई सरकार के गठन के बाद केन्द्रीय गृह सचिव के टेलिफोन के बाद पांच राज्यों के राज्यपालों ने इस्तीफा दे दिया था। इनमें पश्चिम बंगाल के एमके नारायणन, नगालैंड के अश्विनी कुमार, उत्तर प्रदेश के बीएल जोशी, गोवा के बीवी वांचू और छत्तीसगढ़ के शेखर दत्त शामिल हैं।
  कांग्रेस के नेता जग्गनाथ पहाड़िया ने पिछले साल हरियाणा के राज्यपाल का अपना कार्यकाल पूरा किया है। उत्तराखंड के राज्यपाल अज़ीज़ कुरैशी ने उन्हें कार्यलाय से हटाने के मोदी सरकार के कदमों को अदालत में चुनौती दी है।
   नई राजग सरकार अब तक छह राज्यपाल नियुक्त कर चुकी है। इनमें उत्तर प्रदेश के राम नाईक, पश्चिम बंगाल के केशरीनाथ त्रिपाठी, गुजरात के ओम प्रकाश कोहली, छत्तीसगढ़ के बलरामजी दास टंडन, नगालैंड के पद्मनाभ बालकृष्ण आचार्य और हरियाणा के कप्तान सिंह सोलंकी शामिल हैं।


9:43 PM | 0 comments | Read More

पाक ने बदली रणनीति, सीमा पर 30 आतंकी ठिकाने, चौकियों पर ले रहे शरण - BSF DG

  जम्मू।। पाकिस्तान की ओर से लगातार सीजफायर के उल्लंघन और कुपवाड़ा में दो दिनों से आतंकियों से मुठभेड़ के बीच BSF के डीजी डीके पाठक ने बड़ा बयान दिया है. पाठक ने कहा कि पकिस्तान ने सीमा पर अपनी रणनीति बदली है. और पाकिस्तान की सीमा पर 25-30 आतंकी ठिकाने मौजूद हैं. उन्होंने कहा कि बीते 45 दिनों से पाकिस्तान सीजफायर का उल्लंघन कर रहा है और पाकिस्तान की चौकियों पर आतंकी शरण ले रहे हैं.
   डीके पाठक ने पाकिस्तान की ओर से सीमा पर भारतीय नागरिकों के घरों पर गोलीबारी पर एतराज जताया. उन्होंने कहा कि इस ओर भारत की नीति बिल्कुल स्पट है कि हम कभी पहले गोलीबारी नहीं करते और किसी भी सूरत में सीमा के आसपास बसे गांवों को निशाना नहीं बनाते.
   पाठक ने कहा कि साल 1971 के बाद पाकिस्तान की ओर से सीजफायर उल्लंघन का यह सबसे गंभीर मामला है, क्योंकि बीते 45 दिनों से पाकिस्तानी रेंजर्स सीमा पर लगातार और भारी मात्रा में गोलीबारी कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में सीमा पर आतंकियों ने लॉन्च पैड बना रखे हैं. भारतीय सेना को ऐसे कम से कम 25-30 आतंकी ठिकानों की जानकारी है. पाकिस्तान की रणनीति पर बात करते हुए पाठक ने कहा कि आतंकी अपना ठिकाना वहीं बनाते हैं, जहां उन्हें जरूरी मदद मिलती है.


7:00 PM | 0 comments | Read More

रेप की कोशिश की शिकायत दर्ज नहीं हुई तो दलित लड़की ने पंखे से लटकर की आत्महत्या



  गाजियाबाद।। यूपी के मोदीनगर में 15 साल की दलित लड़की ने रविवार को पंखे से लटकर आत्महत्या कर ली। परिजनों का कहना है कि तीन सवर्ण लड़कों द्वारा रेप की कोशिश किए जाने की पुलिस शिकायत दर्ज न होने के चलते लड़की ने यह कदम उठाया है।
आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज
   पुलिस ने तीन आरोपी लड़कों के खिलाफ लड़की को आत्महत्या के लिए उकसाने का केस दर्ज किया है। हालांकि, लड़की के आत्महत्या करने के बावजूद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ रेप की कोशिश करने का केस दर्ज करने से इनकार कर दिया है। आरोपी रिंकू, छोटू और सचिन ने कथित तौर पर 13 अगस्त को लड़की का रेप करने की कोशिश की थी। गाजियाबाद के एसपी जगदीश शर्मा का कहना है, "पीड़ित लड़की का परिवार आरोपियों के साथ लिखित समझौता कर चुका है। मृतक लड़की की मां ने इस समझौते पर साइन किए हैं। ऐसे में हम भला 'रेप की कोशिश करने' का केस कैसे दर्ज कर सकते हैं।"
पीड़ित के पिता बोले- किसी ने नहीं सुनी
   पीड़ित लड़की के पिता का कहना है, "मैं और मेरी बेटी कई बार पुलिस थाने शिकायत दर्ज कराने गए। यही नहीं, हम मंगलवार को तहसील दिवस पर स्थानीय अधिकारियों से मिले और शिकायत की। हमें कार्रवाई करने का आश्वासन दिया गया, लेकिन असल में किया कुछ नहीं गया।" हालांकि, एसपी ने इस आरोप पर कोई सफाई नहीं दी है।
  पीड़ित लड़की के पिता का कहना है कि पड़ोसी लड़के रिंकू और छोटू उनके घर आए थे और बेटी को यह कहकर ले गए कि उसकी बहन उसे बुला रही है। जब उनकी बेटी आरोपी लड़कों के साथ गई तो उसका रेप करने की कोशिश गई। लड़की के चिल्लाने पर मामला खुल गया।
6:56 PM | 0 comments | Read More

कांग्रेस में आना चाहते हैं आप के विधायक

    नई दिल्ली।। कांग्रेस ने कहा है कि उत्तराखंड और बिहार में उपचुनावों के नतीजों से बीजेपी और आम आदमी पार्टी की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। दिल्ली में पार्टी के विधायक डरे हुए हैं। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता मुकेश शर्मा ने खुलासा किया है कि अपनी हार से डरे आप के 12 विधायकों ने कांग्रेस से एक बार फिर से सीधा संपर्क किया है। कांग्रेस ने यह भी कहा है कि इन विधायकों ने पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल से दूरी बना ली है। आप के ये विधायक कांग्रेस में आना चाहते हैं।
   शर्मा ने कहा कि पंजाब, बिहार और उत्तराखंड के काफी लोग दिल्ली में रहते हैं। इससे साफ है कि बीजेपी और आप को लोग नकार रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को अच्छे दिन का सपना दिखाने वाली बीजेपी के बुरे दिन आने शुरू हो गए हैं। दिल्ली के विधानसभा चुनावों में बीजेपी और कांग्रेस के बीच ही मुख्य मुकाबला होगा। शर्मा ने यह भी आरोप लगाया कि केजरीवाल पहले ही अपनी हार मान चुके हैं, इसलिए वे नई दिल्ली की बजाय दूसरे विधानसभा क्षेत्र की तलाश कर रहे हैं, इसलिए रैली का नाटक किया जा रहा है।

6:54 PM | 0 comments | Read More

भारत ने लिया बदला: पाकिस्तान ने हमारे 2 नागरिक मारे, हमने 8 को मारा

  जम्मू।। पाकिस्तान बिना उकसावे के भारतीय सीमा चौकियों और नागरिक इलाकों में फायरिंग कर रहा है। इस साल पाकिस्तान की फायरिंग में भारत के दो नागरिक मारे जा चुके हैं। सीमा पर तैनात भारत के जवान पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब दे रहे हैं। सरकार ने भी सीमा पर तैनात सुरक्षा बलों को खुली छूट दे रखी है। इसका नतीजा यह है कि पाकिस्तान को पिछले 10 दिनों में इतना नुकसान पहुंचा है जितना पिछले साल पूरे अगस्त महीने के दौरान नहीं पहुंचा था।
   एक अंग्रेजी समाचार पत्र की रिपोर्ट के मुताबिक 16 अगस्त को शुरू की गई जवाबी कार्रवाई में अब तक 8 लोग मारे जा चुके हैं। इनमें पाकिस्तान की सेना के जवान,आतंकी और आम नागरिक शामिल हैं। गौरतलब है कि सीमा पार से की जा रही फायरिंग में अब तक भारत के दो आम नागरिक मारे जा चुके हैं। 2013 में पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में भारत के 12 सैनिक मारे गए थे। इस साल फायरिंग में बीएसएफ का एक जवान शहीद हुआ है।
   पिछले महीने पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में बीएसएफ का जवान शहीद हुआ था। पिछले साल पाकिस्तान के हमले में 6 सैनिक और दो आम नागरिक मारे गए थे। 2013 में भारत की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान के चार सैनिक और एक आम नागरिक मारा गया था। बीएसएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि मध्य अगस्त से हम सीजफायर के उल्लंघन का आक्रामक जवाब दे रहे हैं। पाकिस्तानी रेंजरों के मुकाबले हमारी ताकत तीन गुना ज्यादा है। उसी अनुपात में हमारे पास ज्यादा हथियार है।
   यही वजह है कि पाकिस्तान की सेना का साथ मिलने के बावजूद पाकिस्तानी रेंजर्स को जबर्दस्त नुकसान पहुंचा है। पाकिस्तान जब तक फायरिंग नहीं रोकता,हम इसी आक्रामकता से जवाब देते रहेंगे। बीएसएफ के सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान की सरकार ने रेंजरों की मदद के लिए सेना की 12 मुजाहिदीन बटालियन को चारवा सेक्टर में तैनात किया है।




6:50 PM | 0 comments | Read More

राज्य सरकार की उदयपुर में केबिनेट बैठक के बाद भी शहर को कोई राहत नही - कांग्रेस


   उदयपुर।। ब्लाॅक कांग्रेस कमेटी और शहर जिला कांग्रेस कमेटी ने भा. ज. पा. की राज्य सरकार द्वारा आयोजित किये गये  प्रदेश व्यापी अभियान ''सरकार आपके द्वार'' को प्रदेश की जनता को महंगाई, भ्रष्टाचार चार, सुशासन व अच्छे दिनों के दिखाए गए सपनो से ध्यान हटाने के लिए की जा रही नोटंकी करार दिया। 
   ''सरकार आपके द्वार'' कार्यक्रम से शहर की समस्या ग्रस्त जनता को कोई राहत नहीं मिली, राज्य सरकार उदयपुर में केबिनेट बैठक के बाद हूई घोषणा में उदयपूर शहर की मूख्य यातायात समस्या, जिसके अन्तर्गत फलाईओवर, एलिवेटेड रोड की मूख्य मांग थी जिसके बारे में कोई घोषणा नहीं की गई  इसके उलटे पहले से ही समस्या ग्रस्त जनता के सामने और कई समस्या उत्पन्न हुई है । ''सरकार आपके द्वार'' कार्यक्रम के तहत मूख्यमंत्री ने अपने समस्त मंत्रीयों सहित सरकारी खर्च पर महगी होटलो मे ठहरकर एशो आराम किया ओर पिकनिक मनाई जिससे सरकारी रूपयों का दूरूपयोग हूआ।   
   शहर जिला कांग्रेस कमेटी के 'ए' व 'बी' ब्लाॅक कमेटी द्वारा शहर के समस्त वार्डो में भा.ज.पा. के कुशासन से उपजी समस्याओं को ''जागो उदयपुर कांग्रेस के संग'' कार्यक्रम के तहत शहर में दिनांक 14 अगस्त से 23 अगस्त , 2014 तक 8 शिविर लगा कर समस्या ग्रस्त जनता से निर्धारित प्रारूप में जनसमस्याएं एकत्रित की गयी। जिसके पश्च्यात उदयपूर काॅग्रेस के कार्यकर्ताओं ने देहली गेट शान्ति आन्नदी स्मारक  पर घरना लगाया जहाॅ पर झाडोल विघायक हीरालाल दरागी पूर्व विघायक सज्जन कटारा पूर्व शहर जिला काॅग्रेस अघ्यक्ष रामचन्द्र मेनारिया, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव वीरेन्द्र वैष्णव, शहर कांग्रेस के उपाध्यक्ष शराफत खान, पंकज शर्मा, 'ए' ब्लाॅक अध्यक्ष मुजिब सिद्धकी, 'बी' ब्लाॅक अध्यक्ष पूरण मेनारिया, सचिव राहुल व्यास, भरत आमेटा, गणेश डागलिया, अम्बालाल नायक, महामंत्री कमलनयन खण्डेलवाल,राजेश जैन, प्रेम द्यावरी, प्रवक्ता डाॅ दीपक औदिच्य, महेन्द्र भारद्वाज, मोहम्मद नासिर खान, पार्षद अजय पोरवाल ,मूसलिम अली, मोहम्द अयूब, जीवन गमेती, अली कोैसर, अकिता वैश्य, महेश मेनारिया, जयप्रकाश निमावत, सीमा पंचैली, चन्दा सूहालका, प्रमोदनी बक्षी, दिनेश राजपुरोहित, श्याम कूमावत, फिरोज अहमद, दिनेश चितौडा, दिेनेश राव, ललित सोनी, सूनील नकवाल, भूपेन्द्र शर्मा, हरिश कल्याणा सहित कई कार्यकर्ता मोजूद थे। घरना कार्यक्रम का संचालन पूरण मेनारिया ने किया और  घन्यवाद मूजीब सिद्धकी ने दिया ।
  धरने के बाद उदयपुर कांग्रेस के नेताओं ने नारेबाजी करते हूए अतिरिक्त जिला कलेक्टर को मूख्य सचिव के नाम निम्नलिखित समस्याओ के निवारण के लिए ज्ञापन सौपा 
1. उदयपुर शहर को बी-2 का दर्जा दिलाया जाये,
2. उदयपुर शहर में हाईकोर्ट बैंच की स्थापना की जाये,
3. उदयपुर शहर में पासपोर्ट कार्यालय की पुनः स्थापना की जाये,
4. झील विकास प्राधिकरण के कार्यालय की स्थापना उदयपुर शहर में की जाये ताकि 'झीलों के नगर' से विख्यात शहर की झीलों का भी समुचित एवं व्यवस्थित रूप से संरक्षण हो सके। 
5. डाउन स्ट्रीम क्षेत्र (झीलों के आसपास) में उदयपुर की स्थापना में बसे लोगों को अपने मकानों के पट्टे दिये जाने के साथ उन्हें आवश्यकतानुसार पुननिर्माण की स्वीकृति दी जाये। 
6. आयड़ विकास प्रोजेक्ट को प्रारंभ किया जाये, 
7. हेरिटेज वाॅक की क्रियान्विति  की जाये,
8. देवास योजना के शेष चरणों के कार्य में गति लाकर इसे शीघ्र पूरा किया जाये,
9. उदयपुर शहर में क्षेत्रवार पार्किंग स्थल विकसित कियें जाये, पार्किंग इस समय शहर की सबसे बडी समस्या है।
10. महाराणा भूपाल चिकित्सालय में रिक्त पड़े चिकित्सकों के पदों पर नियुक्ति की जाये,
11. उदयपुर शहर के चौराहो व पर्यटन स्थलों पर सी.सी. टीवी केमरे लगाये जायें,
12. उदियापोल से कोर्ट चौराहे पर आॅवरब्रिज की स्थापना की जाये,
13. उपनगरीय क्षेत्र हिरणमगरी में खेल मैदान एवं मिनी सभागार के लिये जमीन आवंटन की जाये,
14. उदयपुर पर्यटन का मुख्य केन्द्र होने से आये दिन आने वाले वी.वी.आई.पी. के लिये अलग से पुलिस फोर्स, पर्यटन सहायता बल की संख्या में वृद्धि की जाये, अपराधिकरण, गैंगवार पर अंकुश की आवश्यकता है। 
15. उदयपुर शहर की तरह उदयपुर ग्रामीण में भी पुलिस अधीक्षक का पद सृजित किया जाए हो,
16. कच्ची बस्ती व शहर के निवासियों को पट्टे आवंटन में त्वरितता बरती जाये व प्रक्रिया सरलीकरण किया जाये,
17. पर्यटकों को असुविधा ना हो इसलिये रात्रि में भोजनालय एवं आवश्यक सुविधाओं को उपलब्ध कराया जाये,
18. शहर के विस्तार के क्रम में नयी काॅलोनियों व बस्तीयों की प्लानिंग में उद्यान, बच्चों के खेलकूद के लिये पार्क, सामुदायिक भवन, सीवरेज इत्यादि को सुनिश्चित किया जाये। 
19. ड्राईविंग ट्रेक का निर्माण किया जावें।
20. शहर में 5 हजार व्यक्तियों के बेठने हेतु इंडोर सभागार का निर्माण किया जाना आवश्यक है। 


6:31 PM | 0 comments | Read More

सपा के नेताओं ने करायी सपा की किरकिरी

सपा नेता आशीष वर्मा और अंकुर ने लगाये थे सरकार विरोधी नारे
आशीष ने युथ ब्रिगेड में जिलाध्यक्ष पद के लिए किया है आवेदन
सोमवार मांस बरामद होने पर जमकर काटा था हंगामा

   शाहजहाँपुर।। सोमवार को शहर के मोहल्ला वाजिदखील में प्रतिबंधित पशुओ का मांस बरामद होने पर आक्रोशित लोगो ने जाम लगाकर आगजनी की थी। इस दौरान लोगो ने मुख्यमंत्री का पुतला फूँककर सरकार विरोधी नारे लगाये थे। इन सब प्रदर्शनों में हिन्दू संगठनो के साथ प्रदेश की सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी के नेता आशीष वर्मा तथा सभासद अंकुर कटियार ने भी प्रदर्शन कर सरकार विरोधी नारेबाजी की थी। आशीष वर्मा ने तो हालही में युथ ब्रिगेड में जिलाध्यक्ष पद के लिए आवेदन किया है।
    लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा छोड़कर सत्ता की मलाई खाने साईकिल पर सवार हुए आशीष वर्मा ने सोमवार को शहर के मोहल्ला वाजिदखील में प्रतिबंधित पशुओ का मांस बरामद होने पर गर्रा घाट पर जाम लगाकर जमकर सरकार विरोधी नारेबाजी की थी। उनका यह प्रदर्शन और नारेबाजी मीडिया के कैमरे से बच नही सकी। इसके साथ ही सपा युवजनसभा के नेता व सभासद अंकुर कटियार तो भाजपा सांसद कृष्णाराज के साथ पूरे समय कंधे से कन्धा मिलाकर नारेबाजी विरोध प्रदर्शन करते रहे थे। सत्ता में ही अपने नेताओ के विरोध में उतरने से सपा की मुश्किलें बढ़ सकती है। तो वहीँ विरोधी पार्टियो को सपा पर तंज कसने का बैठे-बैठाये मुद्दा भी मिल गया।
   अब देखना होगा कि सपा जिलाध्यक्ष तनवीर खां इन दोनों नेताओ पर अनुशासन हीनता की कार्यवाही कर पायेगे या नही? मगर इन नेताओ की बजह से सपा की किरकरी जरूर हो रही है कि सपा के अपने ही सरकार से त्रस्त है।





5:55 PM | 0 comments | Read More

दूल्हे पर मंडप में ही चप्पलों की बरसात

   मेरठ।। एक शादी में शामिल होने गए लोगों को उस समय हैरानी हुई जब निकाह के लिए मंडप में बैठे दूल्हे पर एक महिला ने चप्पल बरसाना शुरू कर दिया। ये शख्स पहली पत्नी के रहते हुए दूसरी शादी कर रहा था। जैसे ही पत्नी को पता चला वह पहुंच गई शादी के मंडप में और दूल्हा बने अपने पति की चप्पलों से जमकर पिटाई कर दी। पत्नी का गुस्सा देखकर दूल्हा वहां से फरार हो गया। मामला थाना लिसाड़ी गेट क्षेत्र की श्यामनगर कॉलोनी का है।
   मोहल्ला श्यामनगर निवासी साजिद का निकाह 8 साल पहले कमेला रोड की रहने वाली तबस्सुम से हुआ था। उन दोनों एक बेटा भी है। साजिद दिल्ली के कोटला मुबारकपुर में किराए के मकान में अपने परिवार के साथ रहता था। उसने वहीं पास के एक मेडिकल स्टोर में नौकरी कर ली। बताया जा रहा है कि तीन दिन पहले तबस्सुम के बेटे की तबीयत अचानक खराब हो जाने के कारण वह उसे लेकर मेरठ अपने मायके आ गई थी।
   रविवार की रात उसे जानकारी मिली कि उसका पति दूसरी शादी कर रहा है। वह अपने बेटे और परिजनों के साथ शादी के मंडप में पहुंच गई। उसका पति साजिद मंडप में सेहरा सजाए बैठा था। उसे देखते ही तबस्सुम गुस्सा हो गई और उसने साजिद पर चप्पलें बरसानी शुरू कर दी। वहां मौजूद लोग जब तक माजरा समझते साजिद मौके की नजाकत को भांपते हुए वहां से नौ दो ग्यारह हो गया।
   लड़की पक्ष के लोग पहले तो तबस्सुम और उसके परिजनों से भिड़ गए। लेकिन मामला समझ में आते ही उन्होंने साजिद की मां और भाभी को कमरे में बंद कर बंधक बना लिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने बंधक बनाई गई महिलाओं को आजाद कराया। पुलिस का कहना है कि पूरे मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
5:51 PM | 0 comments | Read More

कर्नल पर साथी अधिकारी की पत्नी को शराब पीकर जबरदस्ती छूने का आरोप



  नई दिल्ली।। जम्मू में तैनात ब्रिगेडियर पर सहायक के साथ दुष्कर्म के बाद सेना में दुराचार का एक और मामला सामने आया है। राजस्थान के श्री गंगानगर में तैनात एक कर्नल पर साथी अधिकारी की पत्नी और चार अन्य महिलाओं के साथ सेक्सुअल दुर्व्यवहार करने का आरोप लगा है।
  सेना के सूत्रों के मुताबिक, ताजा वाकया तब हुआ, जब यूनिट के मेस में कमांडिंग ऑफिसर (कर्नल) साथी अधिकारियों और उनकी पत्नी के साथ बैठे हुए थे। हल्के नशे में आरोपी कर्नल ने साथी अधिकारी की पत्नी को छूआ और छेड़छाड़ की। मामला तब खुलकर सामना आया जब महिला ने इस हरकत से परेशान होकर कर्नल को थप्पड़ जड़ दिया और रोने लगी। इस मामले में ऑफिसर ने अपने वरिष्ठ अधिकारी से कर्नल की शिकायत की। पीड़ित महिला ने भी लिखित में अपनी शिकायत दर्ज कराई।
आरोपी कर्नल 'मिलिट्री कस्टडी' में
   इस घटना के बाद चार और महिलाओं ने आरोपी कर्नल के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई और कहा कि वे पिछले कुछ समय में कर्नल की ऐसी हरकतों का शिकार हुई हैं। मामले की आर्मी एक्ट की धारा 125 के तहत जांच के आदेश दिए गए हैं। इस कानून के हिसाब से कोर्ट ऑफ इंक्वायरी होने तक आरोपी को 'मिलिट्री कस्टडी' में रखा जाता है।
पहले लग चुके हैं शराब पीकर आने के आरोप
    रक्षा मंत्रालय ने भी घटना की पुष्टि करते हुए कहा है, 'जल्दी ही इस मामले की जांच पूरी हो जाएगी। ऐसे मामलों को सेना में बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।' कर्नल को हाल ही में फील्ड पोस्टिंग से श्रीगंगानगर यूनिट में ट्रांसफर किया गया था। वहां भी उनके खिलाफ ऐसी शिकायतें थी कि कर्नल अकसर शराब पीकर आते हैं और ज्यादातर समय ड्यूटी से अनुपस्थित रहते हैं।

5:48 PM | 0 comments | Read More

तिरूपति बालाजी की तर्ज पर हो नाथद्वारा का विकास - मुख्यमंत्री




उदयपुर।। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने मंगलवार को उदयपुर के क्षेत्रीय रेल प्रशिक्षण संस्थान में नाथद्वारा मंदिर विकास योजना के बारे में नाथद्वारा टेम्पल बोर्ड से संबंधित बैठक ली।
श्रीमती राजे ने कहा कि नाथद्वारा मंदिर का विकास एवं प्रबंधन तिरूपति बालाजी मंदिर की तर्ज पर होना चाहिए ताकि यहां आने वाले श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों को कोई परेशानी नहीं होने के साथ उन्हें हर प्रकार की सुविधा मिले।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मंदिर के विस्तार एवं सौंदर्यीकरण का प्रथम चरण पूरा हो गया है। उन्होंने गोवर्धन परिक्रमा, लाल बाग व अन्य स्थानों पर बचे हुए विकास कार्यों को समयबद्ध तरीके से पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि नाथद्वारा में होने वाले विकास कार्य स्थानीय निवासियों को विश्वास में लेकर करें।
श्रीमती राजे ने कहा कि गोवर्धन पर्वत के सामने स्थित दूसरी पहाड़ी पर वन भूमि में सुन्दर वृक्षारोपण करवाया जाना चाहिए। मंदिर तक पहुंचने वाले 120 फीट चैड़े रास्ते का कार्य भी मई 2015 तक पूरा कर लिया जाये। उन्होंने कहा कि नाथद्वारा शहर की जनता व यहां आने वाले पर्यटकों और दर्शनार्थियों की सुविधा के लिए सीवरेज योजना को शीघ्र पूरा किया जाये। इससे नदी का पानी भी साफ रहेगा और सीवरेज ट्रीटमेंट प्लान्ट से निकलने वाले पानी का अन्यत्र उपयोग भी किया जा सकेगा।
बैठक में राजसमन्द के सांसद श्री हरिओम सिंह राठौड़, विधायक श्री कल्याण सिंह, मुख्य सचिव श्री राजीव महर्षि, अति. मुख्य सचिव (देवस्थान) श्री अशोक शेखर, संभागीय आयुक्त श्री वैभव गालरिया, राजसमन्द कलक्टर श्री के.सी. वर्मा, आर्किटेक्ट श्री निरंजन हीरानंदानी, टेम्पल बोर्ड के निष्पादन अधिकारी श्री जगदीश चन्द्र पुरोहित भी मौजूद थे।

5:46 PM | 0 comments | Read More

संतोषगढ़ में खालिस्तान जिंदाबाद के नारे

  संतोषगढ़।। संतोषगढ़ कस्बे में आधा दर्जन बाइक सवार सिख युवकों ने खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाकर सनसनी फैला दी। दो बाइकों पर सवार ये युवक नंगल की तरफ से आए थे तथा संतोषगढ़ होते हुए टाहलीवाल की तरफ निकल गए। इन युवकों ने चलती बाइक से खालिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाकर पुरे कस्बे में सनसनी फैला दी। 
  युवकों द्वारा की गई अचानक नारेबाजी से संतोषगढ़ बाजार के दुकानदार आश्चर्यचकित रह गए। जब तक स्थानीय लोग व दुकानदार कुछ समझ पाते, तब तक बाइकों पर सवार ये युवक टाहलीवाल की तरफ निकल गए। युवकों की इस प्रकार से नारेबाजी से क्षेत्र में चर्चाओं का दौर आरंभ हो गया। एसजीपीसी के पूर्व सदस्य मास्टर जागीर सिंह ने इस हरकत की कड़ी निंदा की है। 
   उन्होंने कहा कि यह एक शरारतपूर्ण कार्रवाई है, जो कि माहौल को खराब करने की चेष्टा हो सकती है। उन्होंने कहा कि पुलिस व जिला प्रशासन को ऐसे तत्त्वों के विरुद कड़ी कार्रवाई अमल में लानी चाहिए। वहीं, जिला पुलिस अधीक्षक अनुपम शर्मा ने कहा कि उनके पास इस संबंध में अभी तक कोई शिकायत नहीं आई है। उन्होंने कहा कि जिला में पुलिस पूरी तरह से चौकस है।
1:43 PM | 0 comments | Read More

मुजफ्फरनगर दंगों के आरोपी सोम को Z+ सुरक्षा, सचिन-गौरव की बरसी को लेकर तनाव

  मुजफ्फरनगर।। 61 लोगों की जान लेने और 50 हजार से ज्यादा लोगों को बेघर करने वाले मुजफ्फरनगर दंगे की शुरुआत को एक साल पूरे होने वाले हैं। दंगों के शिकार हजारों लोग अब भी संभलने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन कवाल गांव में मारे गए सचिन और गौरव की पहली बरसी के मौके पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम को लेकर कवाल और उसके पड़ोस के मलिकपुरा गांव में फिर से तनाव बढ़ने लगा है। मुजफ्फरनगर दंगों की शुरुआत इन्हीं दोनों युवाओं की हत्या के बाद हुई थी। दंगों के सिलसिले में 567 एफआईआर दर्ज हुई हैं। लेकिन आज तक कोई भी दोषी साबित नहीं किया जा सका है। कई मामलों में आरोप तक तय नहीं हुए हैं। इस बीच, दंगों के आरोपी बीजेपी विधायक संगीत सोम को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जेड प्लस सुरक्षा देने का फैसला किया है।
कवाल-मलिकपुरा में तनाव
   पिछले साल 28 अगस्त को मलिकपुरा गांव के रहने वाले सचिन और गौरव की पड़ोस के गांव कवाल में हत्या कर दी गई थी। सचिन और गौरव के घर वाले दोनों युवाओं की पहली पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देने की तैयारी कर रहे हैं। इसमें आसपास के लोगों को भी बुलाया गया है। चिंता की बात यह है कि मलिकपुरा जाने वाला रास्ता कवाल गांव से गुजरता है। कवाल में ज्यादातर अल्पसंख्यक समुदाय के लोग रहते हैं। गांव के कुछ लोगों का कहना है कि जाट समुदाय के लोग उनके गांव से होकर सचिन और गौरव के घर न जाएं। हालांकि कवाल गांव के प्रधान ने बयान दिया है कि बाइक और कार गांव से होकर गुजर सकती है और ट्रैक्टर-ट्रॉली गांव के बाहर से जा सकते हैं। कवाल गांव के प्रधान की ओर से मिले इस आश्वासन के बावजूद प्रशासन के हाथ-पांव अभी से फूले हुए हैं।
दंगों से जुड़ी अलग-अलग घटनाओं में अब तक क्या हुआ
कवाल कांड

     28 अगस्त, 2013 में कवाल गांव में तीन युवाओं-शाहनवाज, गौरव कुमार और सचिन तलियान की हत्या के बाद पूरा जिला दंगों की चपेट में आ गया था। स्पेशल इन्वेस्टीगेशन सेल (एसआईसी) ने अपनी जांच में पाया कि शाहनवाज की हत्या गौरव और सचिन ने की थी। शाहनवाज पर आरोप था कि उसने गौरव की चचेरी बहन पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। इस मामले में दर्ज एफआईआर में तीन अन्य लोगों के नाम भी शामिल हैं, जो शाहनवाज की हत्या के समय वहां मौजूद थे। उनमें से एक की मौत दंगों से दो महीने पहले एक रेल हादसे में हो गई थी जबकि अन्य दो के खिलाफ पुलिस को कोई सुबूत नहीं मिले। इस मामले में एसआईसी ने आज तक चार्जशीट दाखिल नहीं की है। शाहनवाज के मर्डर के बाद सचिन और गौरव की हत्या कर दी गई। इस मामले में पुलिस ने चार्जशीट दाखिल कर दी है और पांच लोगों को गिरफ्तार भी किया है। शाहनवाज, गौरव और सचिन की हत्याओं ने दंगों को भड़काया था। लेकिन कोर्ट में इन मामलों की सुनवाई आज भी बहुत धीरे-धीरे चल रही है। पिछले साल नवंबर में चार्जशीट फाइल हुई। इस साल अप्रैल में आरोप तय हुए। पिछले हफ्ते गौरव के पिता रवींद्र सिंह की गवाही हुई। कोर्ट में अभी 35 अन्य गवाहों के बयान होने हैं।
जौली नहर कांड
    कवाल में हुई हत्याओं के बाद आस-पास के इलाकों में महापंचायतों के दौर शुरू हुए। जाट समुदाय के लोगों और मुसलमानों ने ऐसी कई बड़ी पंचायतों में हिस्सा लिया। पूरे इलाके में तनाव अपने चरम पर था। 7 सितंबर को कवाल के नजदीक नंगला मधोर में हुई महापंचायत में हिस्सा लेने के बाद जाट समुदाय के कुछ लोगों पर लौटते समय जौली नहर के पास शाम को 4.30 भीड़ ने हमला बोल दिया। हिंसा के बाद पुलिस ने जौली नहर से छह शव बरामद किए। पुलिस दंगा भड़काने, हत्या से जुड़ी धाराओं में मुकदमा दर्ज किया। लेकिन जानसठ थाने में एफआईआर में जिन 60 लोगों के नाम दर्ज थे, उसमें से सिर्फ दो की गिरफ्तारी हुई। इस मामले में चार्जशीट इस साल अगस्त में दाखिल हुई। इस मामले में अब भी आरोप तय होने बाकी हैं।




1:40 PM | 0 comments | Read More

कैसा होगा योजना आयोग का नया प्रारूप, बैठक आज


   नई दिल्ली।। योजना आयोग की जगह लेने वाले नए संस्थान को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंगलवार को सुबह 11 बजे एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई गई है। इस बैठक में योजना आयोग के अस्तित्व को लेकर चर्चा होगी। साथ ही नए संस्थान और उसकी कार्यशैली पर भी विचार किया जाएगा। इस बैठक में योजना आयोग के वरिष्ठ अधिकारियों समेत कई वरिष्ठ केबिनेट मंत्री भी शामिल होंगे।
   गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले ही योजना आयोग को खत्म करने की बात कह चुके हैं। नए संस्थान के बाबत पीएम ने आम जनता से उनकी राय भी मांगी है। योजना भवन में आज होने वाली इस बैठक में पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा और आयोग के कई पूर्व सदस्य भाग लेंगे। यह बैठक प्रधानमंत्री के स्वतंत्रता दिवस भाषण में योजना आयोग की जगह नई संस्था बनाने की घोषणा और उसके बाद मायगॉव वेबसाइट पर इसके लिए सुझाव आमंत्रित करने के बाद बुलाई गई है।
   सूत्रों ने कहा कि यह बैठक प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के निर्देश पर बुलाई गई है। माना जा रहा है कि इस बैठक में संप्रग के कार्यकाल में योजना आयोग के सदस्य रहे अभिजीत सेन व सैयदा हमीद तथा इसके पूर्व सचिव एनके सिंह शामिल हो सकते हैं।
   सूत्रों ने कहा कि दो अलग-अलग बैठकें होंगी। एक बैठक योजना आयोग की सचिव सिंधुश्री खुल्लर के समन्वय में होगी। इसमें पूर्व सदस्य और मंत्री शामिल होंगे। दूसरी बैठक में सिर्फ अधिकारी शामिल होंगे। दोनों बैठकों में जो भी विचार-विमर्श होगा, उसे योजना आयोग पीएमओ को भेज देगा।
1:27 PM | 0 comments | Read More

तारा शाहदेव का लव जेहाद का मामला उलझा, सरकार के पास भी नहीं इन प्रश्नो के जवाब ?

    रांची।। रांची का तारा शाहदेव का लव जेहाद का मामला उलझता ही जा रहा है, रकीबुल हसन पहले हिन्दू था गरीबी से तंग आकर वह मुसलमान बना और हर 6 महीने पर हज को जाता है। उसका मुसलमान बनने से पहले का नाम रंजीत सिंह कोहली ही है।
  अब वह लड़किओ को कालेज में दाखिला अपने सोहरत पर दिलाता है और मौज मस्ती करता है। मुसलमान बनने के बाद उसकी लाइफ, भिखारी से अत्यंत हाई प्रोफाइल हो गई है।
आइये नजर डालते हैं उन सवालों पर -जिसने उसे अमीरों का अमीर बना दिया था .... बड़े सवाल
1. ये "सरकार" कौन है जिसको वह विभीन्न सीमो से बात करने के दौरान सम्बोधन करता था।
2. पीली बत्ती, बॉडीगार्ड और सरकारी गाड़ी कौन उपलब्ध कराता था।
3. हाईकोर्ट अधिकारी का नाम आने के बावजूद क्यों नहीं हो रही कार्रवाई।
4. कौन-कौन से बड़े पुलिस अधिकारी और राजनेताओं से उसके संबंध थे।
5. कहीं लड़कियों का इस्तेमाल वह इन अधिकारियों के लिए भी तो नहीं करता था।
6. किसके कहने पर वह धर्म परिवर्तन कराने को मजबूर कर रहा था।
7. तारा का धर्म परिवर्तन कराने आने वाले वो कौन-कौन हाजी आए थे।
8. कहीं इसके पीछे कोई संगठन तो काम नहीं कर रहा।
9. जिन सिम कार्डों का इस्तेमाल वह कर रहा था, वे कहां से खरीदे गए और किस-किस के नाम पर हैं।
10. उसके सिम से किस-किस से और कहां-कहां बातें होती थीं।
11. कहीं अंतरराष्ट्रीय संपर्क तो नहीं।
12. बैगों में भरकर इतने ढेर सारे पैसे कहां से आते थे।
13. पुलिस, प्रशासन और राज्य सरकार चुप क्यों है।
14. रकीबुल का संरक्षक झारखंड में कौन है।
15. रकीबुल की माँ उसके मुसलमान बनने से पहले लोगों के घर झाड़ू-पोछा करती थी आचनक मुसलमान बनने के बाद उसके हाँथ कौन सा खजाना लग गया ! जिससे वह 70 हजार रूपये सिर्फ फ्लेट के किराये पर खर्च करता था।
12:41 PM | 0 comments | Read More

नेशनल शूटर तारा ने खोले कई राज, सिंदूर लगाने पर पति ने लगा रखी थी पाबंदी

  रांची।। हिंदू बनकर धोखे से शादी करने वाले रकीबुल और उसकी मां की कैद से बच कर निकली नेशनल शूटर तारा शाहदेव को सुहाग की निशानी सिंदूर लगाने पर भी पाबंदी थी। पति और सास से छुपकर बालों के अंदर वह सिंदूर लगाती थी। सिंदूर लगाने का विरोध दोनों मां-बेटा करते थे। कहते थे, सिंदूर लगाई तो हाथ तोड़ देंगे। दोनों इस्लाम धर्म कबूल कराने पर अड़े थे। वो धमकी देते थे कि तुम्हारे सामने दो ही रास्ते हैं या तो इस्लाम धर्म स्वीकार करो या फिर बिस्तर यही रहेगा, लेकिन आदमी बदलते रहेगा।
  तारा कहती है, शादी से पहले बड़े अफसरों के साथ पीली बत्ती में बॉडीगार्ड के साथ आने वाला रकीबुल शादी से प्रभावित करने के कई हथकंडे अपनाता था। अपने प्रभाव का धौंस जमाते हुए वह शूटिंग रेंज के लिए फंड दिलवाने का भरोसा दिलाता था। पर, शादी होते ही पहली रात में ही उसके रंग-रूप बदल गए और वास्तविकता सामने आने लगी।
कई लड़कियों से खेलता था
  तारा ने बताया, रकीबुल कई लड़कियों के साथ खेलता था। एक दिन मेरे सामने ही दो-तीन बच्चियां आई थीं। कुछ दिनों के बाद कॉलेज में उन लोगों का एडमिशन करा दिया गया। रकीबुल उनके साथ अच्छे से तैयार होकर जाता था। उसके बाद वह गार्ड मंगा लेता था। उसके लिए गाड़ी भेज दी जाती थी। वह ऐसा व्यवहार करता था कि मानो उससे अच्छा और प्रभावशाली इंसान हो ही नहीं सकता। एकबार तो उनसे पूछा कि अगर हमारी शादी नहीं हुई होती तो क्या आपलोग हमसे शादी करतीं। लड़कियों ने कहा कि सर, आपके जैसे इंसान के साथ कौन नहीं शादी करना चाहेगा। इसपर उसने कहा, मेरे बहुत सारे दोस्त हैं।
12:40 PM | 0 comments | Read More

लाहौल-स्पीति में ‘चीन चलो’ का नारा लगाने वाले दो गिरफ्तार

देशद्रोह की धाराएं लगीं, एक भाजपा का पूर्व जिलाध्यक्ष
  रामपुर/बुशहर।। हिमाचल पुलिस ने लाहौल-स्पीति में चाइना चलो का नारा लगाने पर देशद्रोह के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार किए गए लोगों में एक भाजपा का पूर्व जिला अध्यक्ष और एक पंचायत प्रधान है। आरोप है कि इन लोगों ने इलाके के एक पुल की मरम्मत न होने पर चीन की मदद लेने और चाइना चलो का नारा लगवाया।
    ऐसा इन्होंने बीते दिनों पिन वैली के किरनाला में एक टीवी चैनल के सामने किया। ये लोग बाढ़ से बहे पुल के निर्माण के लिए सरकार की ओर से कोई कदम न उठाने पर नाराज थे। मामला सामने आने के बाद पुलिस ने सोमवार को पूर्व भाजपा जिला अध्यक्ष लोबजंग ज्ञालसंग और कुंगरी पंचायत के प्रधान छिमेत दोरजे को गिरफ्तार कर लिया। दोनों पर देश के खिलाफ षड़यंत्र रचने और लोगों को भड़काने का आरोप है।पुलिस के अनुसार इन्होंने क्षेत्र के लोगों को दूसरे देश में चलने का आह्वान किया है, जोकि देश द्रोह है। इसीलिए इनके खिलाफ 124 ए, 34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया है। डीएसपी काजा आशीष शर्मा का कहना है कि इस मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मंगलवार को इन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा।
12:33 PM | 0 comments | Read More

आज ये घूम घूमकर हिन्दू लडकियों को अपना हाल बताती है और उन्हें मुसलमानों से दूर रहने के लिए कहती है



लव जेहाद के जाल से बचने के लिए डा.रुमिनाथ बनी ज्वलंत उदहारण  
नई दिल्ली।। यदि कोई लड़की किसी मुस्लिम के द्वारा बिछाए गये लव जेहाद के जाल में फंसी हो तो उसे डा.रुमिनाथ के हाल से सीख लेना चाहिए। आज रुमिनाथ भले ही कहती है की उनके उपर तन्त्रमन्त्र किया गया है और आसाम के कांग्रेसी मुस्लिम मंत्री और मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने उन्हें लव जिहाद के जाल में फंसने के लिए प्रेरित किया है लेकिन सच्चाई ये है की इनकी खुद की बुद्धि भ्रष्ट हो चुकी थी।
पेशे से डॉक्टर
  एक डॉक्टर की पत्नी और एक प्यारी सी बिटिया की माँ डा. रुमिनाथ फेसबुक के माध्यम से एक बंगलादेशी मुस्लिम से जुडी। शुरू में वो अपने आपको हिन्दू बताता था, बाद में इन्हें पूरी तरह से इम्पेरेस करने के बाद उसकी सच्चाई सामने आई। रुमिनाथ कांग्रेस से विधायक भी थी, एक मुस्लिम मंत्री को इनके बारे में पता चला तो उसने इन्हें इस्लाम कुबूल करने के लिए प्रेरित किया और अपने सरकारी बंगले में इनका और उस मुस्लिम युवक का निकाह करवाया।
   निकाह के एक हप्ते के बाद ही वो मुस्लिम अपनी असलियत पर आ गया। सच्चाई ये है की इस्लाम में औरत को पैर की जूती के बराबर भी दर्जा नही मिला है। जब भोग लिया तब तलाक तलाक - तलाक कह कर मैहर देकर निकाल दिया फिर दूसरी तीसरी चौथी ....पांचवी ... यानी कोई हक नही कोई अधिकार नही।
   रूमीनाथ को पता चला की उस लडके के पहले से ही कई अन्य मुस्लिम लडकियों से भी सम्बन्ध है और वो पहले से ही शादीशुदा है। उस लड़ने ने इनके उपर खूब टार्चर किया। इन्हें दांतों से काटता था और सिगरेट से दागता था।
   किसी तरह से रुमिनाथ अपना जान बचाकर उसके चंगुल से आज़ाद हुई, लेकिन आज उनकी हालत धोबी के कुत्ता न घर का न घाट का जैसा हो गई है। उनके पिता ने भी उन्हें अपनाने से इनकार कर दिया पूर्व पति ने भी मुंह फेर लिया। आज ये घूम घूमकर हिन्दू लडकियों को अपना हाल बताती है और उन्हें मुसलमानों से दूर रहने के लिए कहती है।


(Jitendra Pratap Singh)
12:31 PM | 0 comments | Read More

मुख्यमंत्री ने उदयपुर कलेक्ट्रेट में किया वीडियो कान्फ्रेंसिंग कक्ष का शुभारंभ, जारी किए आॅनलाइन पट्टे








वीडियो कान्फ्रेंसिंग पर ग्रामीणों से हुई रू-ब-रू
उदयपुर।। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुधंरा राजे ने सोमवार को उदयपुर कलेक्ट्रेट सभागार में वीडियो कान्फ्रेंसिंग कक्ष का शुभारंभ किया।
   श्रीमती राजे ने ग्रामीण क्षेत्रों की समस्याओं को सरकार तक पहुंचाने के लिए उपखंड मुख्यालयों को वीडियो कान्फ्रेंसिंग सुविधा की सौगात दी है, यह आमजन के प्रति सरकार की जवाबदेही का प्रतीक है। 
  मुख्यमंत्री ने इस कक्ष का शुभारम्भ करने के बाद वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से खेरवाड़ा उपखंड क्षेत्र के निवासियों से सीधा संवाद किया। श्रीमती राजे को क्षेत्र के लोगों ने बी.पी.एल. कनेक्शन, विद्युत, पेयजल सहित अन्य समस्याओं के बारे में बताया, इस पर उन्होंने इनके शीघ्र समाधान दिलाने का भरोसा दिलाया। 
   श्रीमती राजे ने उपखंड अधिकारी, सिंचाई अभियंता से भी क्षेत्र में स्वीकृत कार्यों की जानकारी ली और उन्हें जल्द पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होंने अधिकारियों से 'सरकार आपके द्वार' कार्यक्रम के तहत दर्ज प्रकरणों पर भी चर्चा की तथा इनके शीघ्र निस्तारण के निर्देश दिये। 
   मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली की समस्या के निस्तारण हेतु फीडर सुदृढ़ीकरण का कार्य प्रगति पर है, आगामी 6-7 माह में उनकी समस्या दूर हो जायेगी। उन्होंने कहा कि जो बीपीएल सूची में दर्ज हैं उन्हें बीपीएल विद्युत कनेक्शन शीघ्र ही दिये जाएंगे।
मुख्यमंत्री ने जारी किए आॅनलाइन पट्टे 
   श्रीमती राजे ने आई.टी. सेंटर पर बड़गांव क्षेत्र के भूताला पंचायत के पांच जनों श्रीमती पुष्पा बाई, खेमराज नागदा, दला गमेती, वरदा मेघवाल व भूरसिंह को डिजिटल हस्ताक्षर वाले पट्टे जारी किये। इसी प्रकार राजस्व नामान्तरण के लिए ई-मित्र पर ही आवेदन प्राप्त कर गिर्वा तहसील के दिनेश माथुर का नामान्तरण खोला। उन्होंने दो बच्चों गोपी अजमेरा एवं प्रेमसिंह को डिजिटलाइज्ड जन्म-प्रमाण पत्र भी जारी किये। 
''हरित धारा'' के तहत उगी सब्जियों को देखा 
मुख्यमंत्री ने उदयपुर जिले के सुदूर जनजाति अंचल में ''हरित धारा'' योजनान्तर्गत जनजाति कृषकों द्वारा लगाई सब्जियों को देखकर प्रसन्नता जाहिर की। जिला कलक्टर आशुतोष ए.टी. पेडणेकर ने श्रीमती राजे को अवगत कराया कि इस योजना के तहत किसानों को ''हरित कार्ड'' व फल सब्जी के उन्नत बीज भी प्रदान किए गए हैं। श्रीमती राजे ने इसे जनजाति परिवारों की आजीविका के लिए अच्छा कदम बताया। उन्होंने कृषकों से बातचीत भी की और शुभकामनाएं दी।
डिजिटल प्रजेंटेशन देखा 
   मुख्यमंत्री ने स्मार्ट सिटी के लिए तैयार की गई ज्योग्राफिक इन्फाॅर्मेशन थ्रीडी सिस्टम का डेमो भी देखा। उन्होंने कहा कि झीलों की नगरी उदयपुर के बारे में भी इस सिस्टम से सूचना तैयार कराई जा सकती है। इस मौके पर सूचना एवं प्रौद्योगिकी सचिव अखिल अरोड़ा, महापौर श्रीमती रजनी डांगी, पूर्व मंत्री चुन्नीलाल गरासिया भी उपस्थित थे।




12:25 PM | 0 comments | Read More

क्या सहारा की स्कीमों में लगाया है पैसा ?

लोगों को वापस मिलेगा उनका पैसा
   नई दिल्ली।। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अब सहारा समूह की स्कीमों में पैसा लगाने वाले लोगों को उनका पैसा वापस मिलने लगेगा। भारतीय प्रतिभूमि और विनियम ‌बोर्ड (सेबी) ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सहारा इंडिया रियल एस्टेट कॉरपोरेशन लिमिटेड (एसआईआईसीएल) और सहारा हाउसिंग इंवेस्टमेंट कॉरपोरेशन लिमिटेड (एसएचआईसीएल) के तरफ से जारी किए गए बांडों में जिन लोगों ने निवेश किया हुआ है।
  उनके रुपयों को रिफंड करने के लिए लोगों से आवेदन मांगे हैं। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अब सेबी इन दोनों स्कीमों में लोगों की तरफ से निवेश किए गए रुपयों को वापस कर रहा है।
  इन दोनों स्कीमों में निवेश करने वाले लोगों से सेबी ने एसआईआईसीएल और एसएचआईसीएल की तरफ से जारी किए गए बांडों की मूल प्रति या पासबुक मांगी है। सेबी ने बाकायदा विज्ञापन जारी कर रिफंड लेने वाले लोगों से 30 सितंबर, 2014 तक आवेदन करने के लिए कहा है। 30 सितंबर के बाद मिलने वाले आवेदनों पर विचार नहीं किया जाएगा।




12:22 PM | 0 comments | Read More

देवताओं को सड़क पर घुमाने वालों पर होगी कारवाई - वीरभद्र

  शिमला।। मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने दो टूक शब्दों में कहा कि देवी-देवताओं के नाम पर इधर-उधर घूम-घूमकर सड़कों के किनारे धन उगाही करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई होगी। ऐसे लोग हमारी देव संस्कृति के खिलाफ काम कर रहे हैं। देवी देवताओं को बदमान किया जा रहा है। इतना ही नहीं देवी-देवताओं के नाम पर लोगों के विश्वास के साथ खिलवाड़ करते हैं, जिसे कतई सहन नहीं किया जाएगा।
   सचिवालय में अंतरराष्ट्रीय कुल्लू दशहरा समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि इस साल दशहरा महोत्सव तीन से नौ अक्टूबर तक मनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पूर्व में कारदार देवी-देवताओं को पारंपरिक तौर पर पालकियों में बजंतरियों द्वारा परंपरागत वाद्य यंत्रों के साथ ले जाते थे। परंतु यह खेदजनक है कि कुछ लोग दो-तीन के समूहों में सड़क किनारे और सार्वजनिक स्थलों पर बैठे रहते हैं और देवी-देवताओं के नाम पर धन उगाही करते हैं। यह प्रदेश की समृद्ध संस्कृति के खिलाफ है। हमारी देव संस्कृति का उपहास बनाने वाले इस प्रकार के प्रचलन को रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाने की जरूरत है।
   उन्होंने उत्सव के दौरान ग्रामीण खेलों के आयोजन की आवश्यकता पर भी बल दिया। इन्हें ग्रामीण खेल के तौर पर पहचान मिलनी चाहिए। इन्हें प्रतिस्पर्धात्मक बनाया जाना चाहिए। ताकि प्रदेश में ग्रामीण खेलों को बढ़ावा मिल सके। प्रदेश में ग्रामीण खेल जैसे कबड्डी, वॉलीबॉल इत्यादि को प्रोत्साहन दिया जा रहा है। वॉलीबॉल प्रतियोगिता के आयोजन के लिए कुल्लू में देव सदन के पीछे अलग से मैदान बनाया जाएगा। लेकिन इसके लिए मैदान के हरित क्षेत्र को छेड़ा नहीं जाएगा। कुल्लू के ढालपुर मैदान में आयोजित होने वाली वॉलीबॉल प्रतियोगिता में अन्य राज्यों की टीमों के भाग लेने की संभावना है।
   उनका कहना है कि मंदिर हमारी संस्कृति का हिस्सा है। इनका संरक्षण करना हमारा कर्तव्य है। प्रदेश सरकार मंदिरों के चौकीदारों और इनके रख-रखाव करने वालों को मांग के अनुरूप फायर आर्म लाइसेंस उपलब्ध करवाने पर विचार कर रही है। जहां तक रिवाल्विंग फंड का सवाल है, यह केवल उन्हीं मंदिरों के लिए है, जो सरकार के अधीन है। आक्युपेंसी टेंटस मुजारा के तहत आते हैं। इन मंदिरों के रख-रखाव के लिए पर्याप्त धनराशि उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्हें पर्याप्त वित्तीय सहायता भी दी जाएगी। इन मंदिरों को तय सीमा से अधिक की धनराशि के लिए भी सरकार आवश्यक वित्तीय सहायता प्रदान करवाएगी ताकि प्राचीन मंदिरों का अस्तित्व बना रहे।
   इस अवसर पर हिलोपा विधायक महेश्वर सिंह, कांग्रेस विधायक कर्ण सिंह, भाजपा विधायक गोविंद ठाकुर, जिला परिषद कुल्लू के अध्यक्ष हरि सिंह, कारदार संघ के प्रदेशाध्यक्ष दौलत राम, सहित अधिकारी मौजूद थे।




12:18 PM | 0 comments | Read More

बाड़मेर में दो बहनों के साथ गैंगरेप में बड़ा खुलासा


खांप ने लगा रखी थी पीड़ित परिवार पर कई पाबंदियां, खांप पंचायत ने बीस महीने से कर रखा है परिवार का हुक्का पानी बंद.. जिला प्रशासन पर उठे सवाल.. खांप पंचायत ने लगा रखा था पत्नी पर गाँव में आने पर प्रतिबंध.. खांप पंचायत ने लगा रखा था इस परिवार को सरकारी योजनाओं से वंचित रखने का फरमान..
  बाड़मेर।। राजस्थान के बाड़मेर में स्कूल एस घर लौट रही दो बहनों के साथ सामूहिक रेप मामले में सनसनीखेज खुलासे ने बाड़मेर के प्रशासन, पुलिस के साथ ही सरकार को भी कठघरे में खड़ा कर दिया है. पीड़ित लड़कियों के पिता ने पहली बार अपने गाँव से बाहर आकर अपनी बेटियो का अस्पताल में इलाज करवाने के बाद मीडिया से बात करते हुए पखुलासा किया कि उसके परिवार का हुक्का पानी पिछले बीस महीने से समाज ने बंद कर रखा है. यहाँ तक कि उसकी पत्नी के गाँव में प्रवेश करने पर भी प्रतिबंध लगा रखा है. यही नहीं बल्कि पिछले बीस महीने से सरकारी योजनाओं के फायदे उठाने पर भी समाज ने पाबन्दी लगा रखी है. राशन डीलर इस परिवार को राशन तक नहीं देता है.
   आज़ाद भारत का मुगालता पालने वालों के लिए एक बुरी खबर हैं. बाड़मेर आज भी तुगलकी ब्रिटिश कालीन स्थिति में हैं. हद हैं 20 माह से ज्यादा समय से एक परिवार सरकारी योजनाओं से वंचित रहा मनरेगा का काम इस परिवार के लिए प्रतिबंधित रहा मज़े की बात यह हैं कि राजस्थान सरकार का नियुक्त राशन डीलर इनके सरकारी राशन कार्ड पर अनाज नही देता था. इसका कारण जान कर आप भी हतप्रभ रहे जायेंगे कि इसको सरकारी !! माफ़ करे !! लोकतान्त्रिक पद्धति से चुनी हुई सरकार ने ये सुविधाएँ नही दी क्यूंकि खांप पंचायत के इस परिवार को समाज से बहिष्कृत कर रखा था और बाद में इसी समाज के ठेकेदारों ने परिवार की दो युवतियों को हवस का शिकार बना दिया. पुलिस से वहशी भेडियो की हवस का शिकार हुई इन दोनों पीड़िताओ ने बलात्कार के प्रयास की शिकायत भी की लेकिन गिड़ा थाना इनके लिए कोई उम्मीद का सहारा नही रहा. सामूहिक बलात्कार में दरिंदो ने समाज से बहिष्कृत हो चुके इस परिवार की दो बेटियों दो सगी बहनों को हवस का शिकार बनाया लेकिन पुलिस की मूक दर्शी रवैया कायम रहा. अब जब यह मामला प्रकाश में आया तो मानवाधिकार संगठनो ने आगे बढ़ कर इस प्रकरण को आन्दोलन के जरिये आगे बढ़ाने की चेतावनी दी हैं. मानवाधिकार सन्गठन को प्रतिनिधि कविता श्रीवास्तव ने इस प्रकरण में बाड़मेर कलक्टर और एस पी की भूमिका पर सवाल खड़े किये हैं.
   अब जरा इन लड़कियों के अभागे पिता की दास्ताँ को सुने. हर पत्थर दिल पिघल जाए. इस अभागे बाप के मुताबिक पिछले 20 माह से वो मर मर कर जिए हैं. उनको अब न्याय नही मिलेगा तो मौत का सहारा लेना पड़ेगा.
   इस पूरे मामले के सामने आने के दो दिन बीत जाने के बाद भी कलक्टर और एस पी ने खांप पंचायत के पंचो के ख़िलाफ़ कोई भी कारवाई नहीं की है और न ही पीड़ित लड़कियों का इलाज भी कराने कोई जरूरत समझी. दो दिन बाद पीड़ित लड़कियों को मानवाधिकार संगठनो ने इलाज के लिए बाड़मेर के निजी अस्पताल में भर्ती करवाया है. जबकि कानून के मुताबिक दोनों लड़कियों के इलाज के साथ ही पुनर्वास की जिम्दारी भी सरकार की . लेकिन लगता है वसुंधरा सरकार को इस मामले कोई विशेष रूचि नजर नहीं आ रही है. अब मानवाधिकार संगठनो ने चेतवानी दी है कि इस मामले में समाज के पंचो के साथ ही लापरवाह पुलिस अधिकारियो के खिलाफ भी जल्द कारवाई हो अन्यथा बड़ा आंदोलन किया जाएगा.
 
 
(प्रकाशचंद बिश्नोई)
12:03 PM | 0 comments | Read More

Jaipur News

Crime News

Industry News

The Strategist

Commodities

Careers